6-se-7-mahine-ke-bacchon-ke-liye

बच्चों को दिया जाने वाला पहला आहार बहुत पौष्टिक और गुणों से भरपूर होना चाहिए। जैसे केला ,शकरकंद आदि से शुरुवात अच्छी मानी जाती है।विटामिन और मिनरल से भरपूर ये आहार बच्चों के सही विकास और शरीर की ऊर्जा में काफी लाभकारी है। स्तनपान करते हुए बच्चों को सॉलिड फ़ूड देना 6 महीने  के बाद से शुरू कर देना चाहिए। इससे उनकी बॉडी ग्रोथ में बहुत मदद होती है और इसके अतिरिक्त  उनकी फ़ूड हैबिट भी बनती है।

बच्चों  का स्तनपान कम  से कम एक साल होना चाहिए। तो आइये देखते हैं बच्चों को दिए जा सकने वाले कुछ अद्भुत आहार।

1. नाशपाती

विटामिन ए और सी से भरपूर यह फल कैल्शियम और मैग्नीशियम में भी श्रेष्ठ है। इसके छोटे छोटे बरीख पीस काटकर हल्का सा उबाल लें । फिर इसे पीसकर बच्चों को चम्‍मच से खिलाएँ ।

2. शकरकंद

विटामिन ए, सी और फोलेट में श्रेष्ठ यह फल बच्चों की कैल्शियम, मैग्‍नीशियम और पौटेशियम की कमी भी दूर करता है। शकरकंद को साबुत भून लें या उससे थोड़ा उबाल लें। फिर इससे बखूबी मिलाकर पेस्ट बनाए और बच्चों को खिलाएँ ।

3. एवाकाडो

यह बच्चों के लिए सर्वोत्तम आहार है। इसमें फैटी एसिड और अन्‍य महत्‍वपूर्ण खनिज लवण बहुतायत में पाए जाते हैं ।इसको पचाने में भी कोई कठिनाई नहीं होती। एक एवोकाडो को छीलकर उसका गुदा निकाल लें । इसे पकाने की जरुरत नहीँ पड़ती। चम्‍मच से फैटकर इसे ब्रेस्‍टमिल्‍क या साधारण मिल्क में मिलाकर बच्चों को दें ।

4. केला

केले में पौटेशियम की मात्रा सभी आहारों में सबसे ज़्यादा होती है और ये बच्चो को खिलाने में सबसे सरल होता है। साथ ही इसमें फॉस्‍फोरस, सेलेनियम और विटामिन ए व सी भी पाया जाता है । एक केला लें और उससे और सॉफ्ट बनाने के लिए 25 सेकंड माइक्रोवेव में दाल दें। फिर केले को दूध में मिलाकर बच्चों को दें। इसके अलावा केले को मैश करके भी दूध में मिलाया जा सकता है। साथ ही इसमें फॉस्‍फोरस, सेलेनियम और विटामिन ए व सी भी पाया जाता है ।

5. ब्राउन राइस

एक चौथाई ब्राउन राइस को पीसकर दूध में मिलाएँ । इस बात का ध्यान रखें की दूध गरम होना चाहिए। फिर बाद में इसे ठंडा करके बच्चों को पिलाएं। बच्चों के विकास में यह बहुत लाभकारी सिद्ध हुआ है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: