5-bollywood-jode-jinhone-parvarish-ko-acche-se-samajh-liya-hai

  बॉलीवुड का हिस्सा होना कोई आसान काम नहीं होता क्योंकि आपका जीवन हमेशा लोगों की नज़र में रहता है| ये हैं बॉलीवुड के 5 ऐसे जोड़े जिन्होंने मीडिया और लोकप्रियता को अपने बच्चों की परवरिश के बीच में नहीं आने दिया और उन्हें एक सामान्य बचपन दिया|

1.  ट्विंकल खन्ना और अक्षय कुमार

ट्विंकल खन्ना को कई जगहों पर उनके मजाकिए अंदाज़ के लिए जाना जाता है और उनके पति अक्षय कुमार बॉलीवुड के जाने माने अभिनेता हैं| दोनों ही अपने परवरिश के हुनर के बारे में चर्चा करते रहते हैं| कई टॉक शोज़ में उन्होंने कहा है कि वो अपने बच्चों के लिए हर तरह की बात-चीत के दरवाज़े खुले रखना पसंद करते हैं| वो अपने बच्चों से हर विषय में बात करते हैं ताकि उनके बच्चों के सोच का दायरा बढे और जब भी उन्हें किसी और से बात करने की ज़रूरत हो तो वो सबसे पहले अपने माँ बाप के पास आएं|

आपके बच्चों को आपसे किसी भी मुश्किल घड़ी में खुलकर बात करने का मौका देना एक अच्छी परवरिश की निशानी है|

2. नीतू और ऋषि कपूर 

इनके पनपते प्यार और परियों जैसी प्रेम कहानी ने उनके दोनों बच्चों के लिए एक बहुत ही ऊँचा स्तर सुनिश्चित किया है| इन्होंने एक दूसरे की खामियों को पूरा करते हुए और हमेशा एक दूसरे का साथ निभाते हुए एक साथ जुटकर अपने बच्चों को बड़ा किया| जब ऋषि को लगा कि वो अपने बच्चों के लिए एक अच्छे दोस्त नहीं बन पाए तब नीतू ने हाथ बढ़ाया और सब कुछ ठीक कर दिया| वो हमेशा अपने बच्चों के लिए विश्वासपात्र थीं| उनका शांत स्वाभाव और उनके पति का बिलकुल उल्टा व्यव्हार, उनके बढ़ते हुए बच्चों के लिये एक बहुत अच्छा अनुभव था| एक जोड़े के रूप में, वो एक दूसरे को पूरा करते हैं|

3. सुज़ैन और हृथिक रोशन

हालाँकि अब वो साथ नहीं हैं, लेकिन वे अपने बेटों के खातिर अब भी अच्छे दोस्त हैं| उनकी हमेशा कोशिश रही कि उनके तलाक का असर उनके बेटों पर न हो|

जब वो साथ थे, तब उनके परवरिश के तरीके अद्भुत और दिलचस्प थे| वे अपने बच्चों पर किसी भी तरह का निर्णय थोपना पसंद नहीं करते| चाहे वो बात पेशे की हो या उनके धर्म की हो, वे उन्हें हर तरह की आज़ादी देते हैं| इससे भविष्य में उनके बच्चे जिम्मेदार नागरिक और बेहतर इंसान बनेंगे।

4. काजोल और अजय देवगन 

इस जोड़े ने अपने निजी जीवन को निजी बनाए रखने में सबसे अच्छा काम किया है| हालाँकि जब बात परवरिश की आती है तो काजोल मानती हैं कि वो एक सख्त माँ हैं| वो मानती हैं कि बच्चों को दुलार से सिर पर चढ़ाना उन्हें बिगाड़ देता है| उनके मुताबिक, ये ज़रूरी है कि बच्चे शुरू से ही सही और गलत में फर्क करना सीखें और ये उनके साथ सख्त रहने पर ही हो सकता है| वो घर में नियम बनाती हैं, और उनके पति शांत स्वाभाव के हैं और ये साझेदारी उनके बच्चों के लिए, काजोल मानती हैं, बिलकुल सही है|

5. करीना कपूर और सैफ अली खान 

ये एक ऐसी शादी थी जिसने धार्मिक और सामाजिक बाधाओं को पार किया है| माना कि ये सैफ अली खान की पहली शादी नहीं थी, पर करीना ने जिस आसानी से सैफ के बच्चों को अपनाया, वो सराहनीय है| सैफ की पहली बेटी करीना को बिना किसी बुरी भावना के बहुत मानती है| इनके पहले बच्चे के नाम से जुड़े विवादों को इन्होंने बिना किसी परेशानी के ख़तम किया और अपने निर्णय पर डटे रहे| ये जोड़ा परवरिश को कुछ ही सालों में एक नए स्तर पर  ले जाएगा|  

आपको यह सुखद पेरेंटिंग मुबारक हो!

Leave a Reply

%d bloggers like this: