aapke-dil-ko-pighla-dene-wali-baccho-ki-olympics

आप अगर ओलिम्पिक्स खेल के बारे में अपने मन में विचार करते है तो ज़ाहिर है आपको सबसे पहले फिट और सुपर स्पोर्टी निकायों के  याद ही आयेगी ! इससे आप खुद भी जिम जाने के लिए शायद प्रेरित हो जाए | अब इस पूरे छवि से हटकर बाहर निकलने की कोशिश करें | कल्पना करें कि एक छोटे आकार के, गोल मटोल, मुश्किल से चल पा रहा बच्चे का जो ऐसे खेलों में भाग लेने के लिए चला आया है | सोचिए ऐसा खेल देखने में कितना हास्यास्पद और मन बहलाने वाला होगा !

अब आपकी कल्पना को पूरी तरह पंख फ़ैलाने दें और एक नन्हें बच्चों के समूह को तैयार करें | इन नन्हें शैतानों के नए बने ग्रुप को , लाजवाब ट्रैक चिन्हों पर १०० मीटर के दौड़ के लिए प्रेरित कीजिए और मज़ा देखिये |

अब ज़ोर से बोलिये – ‘ सभी प्रतिभागी अपने निशाने पर तैयार रहे , खेल अब शुरु होनेवाला है , आओ चलो , आगे बढ़ो |”

क्या आप अंदाज़ा लगा सकते है , इन नन्हें श्रद्धालु ओलिम्पियनों को आप आवाज़ लगाने के बहुत पहले ही मैदान में चारो तरफ़ बिखरे हुए पायेंगे | उनमें से कुछ शैतानों को आप आसमान की ओर प्यार से घूरते हुए भी पाएंगे |

अब कल्पना कीजिए कि एक नन्हीं सी लड़की को जो काँटेदार , फ़व्वारे जैसे पोनीटैल बनाकर हट्टेकट्टे पहलवानों जैसे दिखने की कोशिश कर रही है | अब अगर आप ये सोच रहे है कि आख़िर ये लड़की अपनी जगह से हिल क्यों नहीं रही है, तो वो इसीलिए कि उसे अपने माँ बाप नज़र नहीं आ रहे हैं | थोड़े ही समय में आप उसके चेहरे पर वो रौनक वापस लौटते हुए पायेंगे |

आप इस नन्ही सी जान को कुछ ही समय बाद एक शरारती विलाप करतें हुए पायेंगे जो शायद ओलिम्पिक्स में पूरी तरह अपने आप को घुसाना ना चाहती हो | अब अपना नज़र घुमाइए, उस रोते हुए बच्चे की तरफ | ये हैरानी की बात नहीं है कि उस एक रोता हुआ बच्चे को देखकर बाकी के सारे बच्चे भी वहीं करने लग जाए| अब इस फैंसी ओलिम्पिक खेल के मैदान में अराजकता का माहौल दिखने लगेगा  |

अब सारी दुनिया देख रही है कि अपने बच्चों के रोने से चिंतित माँ बाप उनकी तरफ़ व्याकुलता से दौड़े जा रहे है | उनके पास दूध के बोतल , पैसिफायर्स जो बच्चों को दिलासा दे , झुनझुने जैसी चीज़े है जिनसे वे अपने बच्चों को शांत करा सकते हैं | आप इन नन्हें शैतानों के लिए एक अलग तरह के आयोजन भी कर सकते है | एक पूरे कमरे को रंगीन गेंदों या मुलायम तरीके से भरे हुए पशु खिलौनों से भर दीजिये | आप आकार में चौंकाने वाले एक बड़े ट्रैम्पोलिन का भी इस्तेमाल कर सकते है| इन दो तरीकों से बच्चों की मनोरंजन भी हो जायेगा, और साथ में खेल के प्रति जिज्ञासा भी पैदा होगी जिससे बच्चे हँसने  खेलने लगेंगे |

बेबी ओलिम्पिक्स को आयोजित करने के लिए अगर आपको अधिक जानकारी की ज़रुरत पड़े तो नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें और विचारों को हासिल करें | हम आपको दिलासा देते है कि आप एकदम से खुश हो जाएंगे और आपका दिन भी बहुत अच्छा गुज़रेगा |

Leave a Reply

%d bloggers like this: