4-karan-aapke-shishu-ke-sar-mein-adhik-paseena-kyon-aata-hai

आप सोचती होंगी की आपका शिशु सोते वक्त पसीना क्यों बहाता है? उसके सर से इतना पसीना क्यों आ रहा है? इस प्रकार की शंकाएं नये माता-पिता में पैदा हो ही जाती हैं। कुछ माता-पिता अपने बच्चे को तुरंत शिशु चिकित्सक के पास ले जाते हैं। उन्हें लगता है कि उनका बच्चा बीमार पड़ गया है। परन्तु चिंता करने की बात नही है क्योंकि शिशु में ऐसा होना प्राकृतिक है। ऐसा उनके शरीर में अधिक गर्मी पैदा होने के कारण होता है। पसीने के रूप में शरीर की गर्मी निकल जाती है।

निम्नलिखित कारण पढ़िए और समझिये शिशु के बारे में।

कारण #1

शुरुवाती दिनों में शिशु की पसीना पैदा करने वाली ग्रन्थियाँ सिर्फ सर में सक्रिय रहती हैं। धीरे-धीरे वे शरीर के अन्य हिस्सों में भी विक्सित होकर सक्रिय रूप से काम करने लगती हैं। पसीने की ग्रंथियों की संख्या एक वयस्क के बदन में एक समान रहती है। नई ग्रंथियाँ पैदा होना बंद हो जाती हैं। अगर आपका शिशु पसीना बहाता है तो यह उसकी अच्छी सेहत और मस्तिष्क के स्वास्थ्य की निशानी है। कई बार शिशु परीक्षण में डॉक्टर उसे पसीने आता है कि नही यह देखता है।

कारण #2

एक नवजात शिशु की हार्ट-बीट यानि हृदयगति 130 बीट्स प्रति मिनट होती है। जबकी एक वयस्क की हार्ट-बीट 70-80 बीट्स प्रति मिनट होती है। एक शिशु की चहल-पहल भी वयस्क के मुकाबले ज़्यादा होती है। इस कारण उनमें अधिक पसीना पैदा होता है।

आप शिशु के सर गुनगुने पानी व मुलायम स्पंज से हफ्ते में 2 से 3 बार धुल सकती हैं। आप नहलाने के बाद शीग्र ही शिशु का सर पोंछ दें अन्यथा उन्हें सर्दी लग जाएगी। घर को भी साफ़ रखियेगा वरना उसे धूल इत्यादि से फैलने वाली बीमारी हो सकती है।

कारण #3

माँ-बाप अपने शिशु को ठण्ड से बचाने के लिए,उन्हें रजाई-कम्बल उढ़ा देते हैं। साथ ही साथ सर पर भी रजाई-कम्बल डाल देते हैं। इससे उनके सर को परेशानी होगी और इरिटेशन होगा। बच्चे को एक हल्का मुलायम कम्बल पहनाने से भी उन्हें सर्दी से बचाव मिल जायेगा। उनके हाथों को खुला छोड़ दें जिससे की उन्हें आराम मिले। जिस कमरे में या फिर जिस जगह आप शिशु को सुलाती हैं वहाँ ढंग से हवा आनी चाहिए।

कारण #4

नवजात शिशु की पसीने की ग्रंथियाँ सक्रिय होती हैं। अगर आपका शिशु काफी पसीना बहा रहा है तो आप उसके बाल भी कटवा सकती हैं। इससे वे कितना पसीना बहाते हैं यह मालूम पड़ जायेगा। अगर उनका सर काफी गर्म है तब शायद उसे बुखार भी हो सकता है। ऐसे में आप उसे डॉक्टर के पास ले जा सकती हैं।

धयान रहे:

अगर आपका शिशु काफी पसीना बहाता है और उसका वज़न बाकी शिशुओं की तुलना अधिक या कम है तो आपके शिशु को ह्रदय में कोई समस्या हो सकती है। अगर शिशु की त्वचा मुरझाई या पीली नज़र आती है तो आप उसे चिकित्सक के पास ले जा सकती हैं। हॉस्पिटल में बच्चे की जाँच करवाने से सही नतीजे मिल जायेंगे।

Leave a Reply

%d bloggers like this: