garbhavastha-ke-dauraan-khoon-ka-nikalna

रिसर्च के मुताबिक 25% औरतों ने गर्भावस्था के समय खून निकलने की शिकायत की और 8% ने बहुत ज़्यादा खून निकलने के बारे में कहा|

हमनें नीचे 5 कारन बताये हैं जिसकी वजह से गर्भावस्था में खून निकलता है:

 

1. इम्प्लांटेशन ब्लीडिंग या स्ट्रीकिंग:

जब एक फर्टिलाईज़ अंडा गर्भाशय के पास आता है तो इसका परिणाम हल्का खून निकलना हो सकता है| आम तौर पर यह केवल एक या दो दिन तक रहता है और ये आपके पीरियड्स होने के समय होता है| कुछ महिलाओं को लगता है की इन्हें बस हल्का पीरियड्स हो रहा है और उन्हें एहसास नहीं होता की वो गर्भवती होगयी हैं|

 

2. अधिक खून बहना:

 

कुछ महिलाएं गर्भावस्था के दौरान अधिक खून का बहना अनुभव करती हैं और ये तभी होता है जब उनका पीरियड्स होने का वक़्त होता है| इसलिए खून का बहना चौथा,आंठवा और बारवां हफ्ते में होता है| इसके लक्षण पीरियड्स की तरह होते हैं, जैसे पीठ दर्द होना, ऐंठन, गैस होना और मूड ऑफ रहना| क्योंकि आप वास्तव में गर्भवती हैं, आपको पीरियड्स नहीं होगा (भले ही आप ऐसा महसूस करती हों) गर्भावस्था के दौरान, हार्मोन आपके पीरियड्स को रोकती हैं| अगर होर्मोनेस अभी तक तैयार नहीं हुए हैं तो उसके कारन आपका खून गिरता है| ऐसा केवल 3 महीने के लिए होता है उसके बाद ओवरी की जगह प्लेसेंटा हॉर्मोन बनाना शुरू कर देता है| कुछ मायें पुरे गर्भवस्था के दौरान खून का बहना अनुभव करती हैं और इसके बावजूद भी तंदुरुस्त बच्चे को जन्म देती हैं|

 

3. मिस्कैरिज होने का डर या असल में मिस्कैरिज होना:

 

रिसर्च ये दिखाता है की एक तिहाई(1/3) गर्भावस्था महिलाओं का मिस्कैरिज हो जाता है| ये बहुत बड़ी संख्या लगती है लेकिन घबराये ना| ऐसे मिस्कैरिज गर्भावस्था के 12 हफ़्तों में होता है, तब तक तो माँ को पता भी नहीं चलता की वो गर्भवती है| ऐसे मिस्कैरिज तब होते हैं जब औरत का शरीर उस फ़ीटस का जोखिम उठाने के लिए तैयार नहीं होता| जैसे ही आप 14-16 हफ्ते की गर्भवती हो जाएँ तब आपके मिस्कैरिज होने का कोई खतरा नहीं रहता| मिस्कैरिज होने के आम संकेत होते हैं पेट में दर्द, खून निकलना, पीठ में दर्द होना और ऐंठन|

4. सेक्स के बाद खून निकलना:

 

 

सेक्स के फ़ौरन बाद खून निकलने के कारण गर्भावस्था के समय खून निकलता है| ये बिलकुल हानिकारक नहीं है और ये खून की अधिक मात्रा होने के कारन होता है| हालांकिये ये खतरे की बात नहीं है लेकिन अगर ऐसा हो तो अपने डॉक्टर को ज़रुर दिखाएं| अपने डॉक्टर से ये सुनने के लिए तैयार रहें की “क्या आपने हाल ही में सेक्स किया है?”आपको सेक्स रोकने की ज़रूरत नहीं है मगर ध्यान दें की आपके पति ने सेक्स करते समय बच्चे को नुक्सान नहीं पहुंचाया है जो आपके यूटेरस में सुरक्षित है|

 

5. एक्टोपिक गर्भावस्था:

 

एक्टोपिक गर्भावस्था तब होती है जब आपका फर्टीलीज़े अंडा यूटेरस के बाहर फॉलोपियन ट्यूब में चला जाता है| आपको अपने पेट के नीचले हिस्से में बहुत दर्द हो सकता है या फिर बहुत तेज़ दर जिससे आपको उलटी और बेहोशी महसूस हो| वो दर्द अचानक ख़तम हो जायेगा जैसे ही ट्यूब टूट जायेगा और फिर कुछ दिन बाद दर्द हो सकता है जो की कुछ घंटों या कुछ दिनों तक रह सकता है जिससे आपकी तबियत बहुत ख़राब लगेगी| ये बहुत गंभीर समस्या है| एक्टोपिक गर्भावस्था आपके फॉलोपियन ट्यूब को तोड़ सकता है जिससे आपका अंदरूनी खून बह सकता है| आपके फॉलोपियन ट्यूब और साथ ही गर्भवस्था को हटाना पड़े मगर इसका ये मतलब नहीं की आप दोबारा गर्भवती नहीं बन सकती जब तक की आपकी दूसरी ओवरी और फॉलोपियन ट्यूब सही हैं|

 

हेलो मॉम्स , हम आपके लिए एक अच्छी खबर ले कर आये हैं।

Tinystep आपके और आपके बच्चों क लिए प्राकृतिक तत्वों से बना फ्लोर क्लीनर ले कर आया है! क्या आपको पता है मार्किट में मिलने वाले केमिकल फ्लोर क्लीनर आपके बच्चे के लिए हानिकारक है?

Tinystep का प्राकृतिक फ्लोर क्लीनर आपको और आपके बच्चों को कीटाणुओं और हानिकारक केमिकलों से दूर रखेगा। आज ही आर्डर करें – http://bit.ly/naturalfc

Leave a Reply

%d bloggers like this: