8-rozmarra-ki-cheezein-jo-aapke-maasik-dharm-ko-prabhavit-karti-hain

 अगर आपकी माहवारी छूट गई है या फिर समय से पहले हो गई तो आप आसानी से फैसले पर आ सकती हैं। परन्तु अनियमित माहवारी चिंता का विषय नहीं होती क्योंकि यह रोज़मर्रा की छोटी मोटी गतिविधियों पर भी निर्भर करती है। कुछ लोग दूसरों की तुलना अधिक संवेदनशील होते हैं। सो उनमें सभी बदलाव आसानी से नज़र आ जाते हैं।

 

महिलाओं को पीरियड 11 से 13 उम्र से शुरू हो जाते हैं पर हर औरत को विभिन्न दिनों में यह क्रिया होती है।  यह उनके शरीर के होर्मोनेस पर निर्भर करती है। वैज्ञानिकों का कहना है की हमारे माहौल, बाहरी वातावरण, खानपान और सोच माहवारी चक्र को प्रभावित करते हैं।

माहवारी न होने का कारण आपकी प्रेगनेंसी या पी.सी.ओ.डी भी हो सकता है। हम आपको कुछ ज्ञानवर्धक बातें बताना चाहेंगे जिनसे आपको खतरे और सामान्य स्थिति में फर्क पता चलेगा।

1. तनाव/अवसाद

अगर घर या ऑफिस में आप मुश्किल दौर से गुज़र रहीं हैं तो यह आपके हॉर्मोन्स के लेवल्स पर असर डालेगा। घटते हॉर्मोन लेवल के कारण आपका ओव्यूलेशन चक्र बदल जायेगा जिसके कारण माहवारी देर से आ सकती है।

2. अधिक व्यायाम

अगर आप जिम जाने वाली महिला है तो आपका अत्यधिक व्यायाम या कसरत करना आपके शरीर पर ज़रूरत से ज़्यादा बोझ लाद सकता है। ऐसे में आपको देर से माहवारी होगी।

3. सिगरट /शराब

अगर आप गलत संगत में पड़ने के कारण धूम्रपान / शराब का सेवन करने लगी हैं तो इनका कुष्प्रभाव आप पर पड़ेगा।

4. गर्भनिरोधक/ अन्य दवाइयां

अगर आप अतीत में कभी बीमार पड़ी थीं, या फिर किसी रोग के लिए दवाएं ले रहीं हैं तो हो सकता है की वह दवाइयां आपके मासिक धर्म को प्रभावित करें।

5. आपका खानपान

आप अगर समय पर खाना नहीं लेती, आधा पेट खुराक ले रहीं हैं या फिर बाहर से खाना ले रहीं हैं तो यह आपके मासिक चक्र को नकारात्मक रूप से प्रभावित करेगा

6. अनिश्चित दिनचर्या

अगर आपके सोने-जागने का समय नियमित नहीं है, आप टाइम-बेटाइम खाना कहती हैं, किसी भी चीज़ का प्लान नहीं होता तो यह सब आप बॉडी रिदम को भी अनिश्चित कर देते हैं।

ऐसे में आपकी माहवारी दो दिन पहले या तीन दिन बाद हो सकती है।

7. थाइरोइड प्रॉब्लम

अगर आपकी थाइरोइड ग्रंथि सही रूप से काम नहीं करती तो आपको अनियमित माहवारी की समस्या हो सकती है।

8. अपर्याप्त नींद

नींद पूरी न होना आपके शरीर को थका देता है। आपके शरीर में शक्ति कम हो जाती है। शक्ति के अभाव में आपके पीरियड्स मिस हो जाते हैं। इसलिए समय पर सोएं और रात में जल्दी सोएं। यह आपकी माहवारी ही नहीं बल्कि सम्पूर्ण बदन को लाभ पहुंचाएगा।

इस पोस्ट को अन्य लोगों तक शेयर करें ताकि उन्हें जानकारी मिले।

Leave a Reply

%d bloggers like this: