polio-vaccine—xyz

पोलियो वैक्सीनेशन कैसे दिए जाते हैं?

अगर साल 2000 से पहले को देखा जाए तो पोलियो वैक्सीन एक ड्राप के तौर पे दी जाती थी जो के खुद एक जीवित पोलियो वायरस से बनाया जाता था| पोलियो ड्राप के ज़ादा फायदे ना देखने के कारन पोलियो के इंजेक्शंस बनाये गए जिसमे मारा हुआ पोलियो वायरस इस्तेमाल किया जाता है जिससे पोलियो होने की सम्भावना नहीं होती है, इस इंजेक्शन को(आयी.पी.वि) के नाम से जाना जाता है जो बच्चों के हाथ या पैर पे लगाए जाते हैं|

कितने उम्र के बच्चों को पोलियो वैक्सीन चाहिए?

2 महीने की उम्र में

4 महीने की उम्र में

6-18 महीने की उम्र में

4-6 साल की उम्र में बूस्टर डोस

अन्य वैक्सीनों के साथ आयी.पी.वि भी दिया जा सकता है| यदि आपके बच्चे को कभी पोलियो का वैक्सीनेशन नहीं मिला तो उन्हें 3 डोस देना अनिवार्य है:


पहला डोस किसी भी समय में

दूसरा डोज़ 1-2 महीने के बाद

तीसरा डोस दूसरे महीने के डोस से 6-12 महीने बाद

अगर आपके बच्चे को पोलियो वैक्सीनेशन का 1-2 डोज़ मिल चूका है तो बाकी के बचे डोज़ उसे लगवा देने चाहिए, ये मायने नहीं रखता की पहला डोज़ मिले कितना समय हो चूका है| आपके बच्चे को सुरक्षित रखने के लिए पोलियो का वैक्सीनेशन लगाना अनिवार्य है|

Leave a Reply

%d bloggers like this: