पांच-जीवन-की-बातें-जो-हर-माँ-को-अपनी-बेटी-को-सिखानी-चाहिए-xyz

आपकी बेटी भी एक दिन बड़ी होकर आपकी जैसी मजबूत और खूबसूरत लड़की बनेंगी। जहां आज आप है, यहां तक पहुंचने का सफर आपके लिए आसान नहीं रहा होगा और ना ही आपकी बेटी के लिए आसान होगा, इसलिए यह आवश्यक है की आप अपनी बेटी को जीवन के मूल्य सिखाए। ताकि अपनी राह में आने वाली हर दुविधा का सामना वो कर सकें और उन्हें सिखाने का यही सही समय है। कोई अन्य व्यक्ति उन्हें यह नहीं सीखा सकता है। अपनी बेटी को खुद को अहमियत देना सिखाए ताकि वह इस बात को कभी ना भूले।

1. संयम और साहस

उन्हें सिखाए की हर समस्या का समाधान होता है। लेकिन आसान उपाय, सही उपाय भी हो यह जरूरी नहीं है। कभी-कभार हो सकता है उन्हें कई कठिन चुनाव करने पड़ें हालांकि यह बहुत मुश्किल होता है। इसलिए उन्हें सिखाए की कैसे सभी फैसला लेकर अपना सर हमेशा ऊंचा उठाए रखें। कोई भी समस्या लम्बे समय तक नहीं बनी रहती है,वह अपनी समस्याओं को सुलझा कर, उससे मजबूत और खुशहाल होकर बाहर आने का रास्ता निकाल सकती है।

2. अन्य लोगों के प्रति उदार बनें

ऐसे भी लोग होंगे,जो आपकी बेटी के साथ बुरा व्यवहार करने की कोशिश करेंगे। हालांकि बुरे के साथ बदले में बुरा ही व्यवहार करना, किसी भी समस्या का समाधान नहीं है और यह एक ऐसी चीज़ है जो आपको अपनी बेटी को नहीं करने देनी चाहिए। उन्हें सिखाए की हर व्यक्ति की अपनी कुछ व्यक्तिगत समस्याएं होती है और दो लोग कभी भी एक जैसे नहीं होते हैं। कभी-कभार उन्हें बीच का रास्ता अपनाते हुए, बातों पर ध्यान नहीं देना चाहिए और सिखाए की कैसे वह एक उदार व्यक्ति बन सकती है। आखिरकार अगर वह भी उस व्यक्ति के साथ बुरा व्यवहार करेंगी जो उसने उनके साथ किया,तो उनमें और आप में क्या फर्क रह जाएगा।

3. अपने आप को स्वीकार करें


किसी भी लड़की को इस बात पर शर्मिंदा नहीं होना चाहिए की वह क्या है? वह कहां से आती है? और वह कैसी दिखती है। अपनी बेटी को सिखाए की वह जैसी है, वैसे ही खुद से प्यार करना सीखें। अगर वह अपने साथ सहज महसूस करेंगी, तभी वह साहसी बनेंगी। यह उदाहरण उन्हें समझाने का बेहतर तरीका है की जैसे आप अपनी बढ़ती उम्र के साथ झुर्रियां और बदलते बालों के रंग को स्वीकार रही है वैसे ही उन्हें भी बदलाव को स्वीकारना होगा।

4. आहार ही जीवन है – कम उम्र से ही उन्हें समझाएं की आहार ऊर्जा का प्रमुख स्रोत है। खाना ना खाने से शरीर में कई समस्याएं हो सकती है जैसे मूड स्विंग और उर्जा की कमी आदि। सभी प्रकार के तत्व आवश्यक है और उन्हें पर्याप्त मात्रा में पौष्टिक आहार लेना चाहिए। उन्हें समझाएं की खुद को भूखा रखकर वह खूबसूरत नहीं बन सकती है। अच्छा खाना, पर्याप्त पानी और नींद लेना उनकी त्वचा और बालों के लिए आवश्यक है। उन्हें बताएं की स्वच्छ और साफ त्वचा किसी भी लड़की की सबसे खास सौंदर्य सम्पत्ति है और यह पूरी तरह इस पर निर्भर करता है की वह अपना ख्याल कैसे रखती है।

आत्मनिर्भर कैसे बने – आपकी बेटी को खुद को सक्षम करने की अहमियत पता होनी चाहिए।जब वह बड़ी हो जाए,तब उन्हें किसी पर निर्भर नहीं होना चाहिए। इसके लिए उन्हें बहुत मेहनत करने की जरूरत होगी ताकि वह खुद को सबसे बेहतर बना सकें। उनकी शिक्षा बहुत आवश्यक है इसलिए उन्हें इसे गंभीरता से लेना चाहिए। उन्हें सिखाए की वह अपने सपनों, अपने मकसद और अपने करियर को प्राथमिकता दें और किसी भी कीमत पर इससे समझौता ना करें। उन्हें यह भी पता होना चाहिए की जो इंसान उनके सपनों की क़दर नहीं कर सकता है वह उनके समय के भी काबिल नहीं हैं।

इन बातों को अन्य माताओं और बेटियों के साथ ज़रूर साझा करें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: