garbhavasttha-mei-acidity-ke-solution

लेकिन इस ऐसीड से बचने के कई सुरक्षित तरीके हैं, ये ज़रूरी नहीं के गर्भवती महिलाएं एसिड का शिकार हों उन्हें इससे बचाया जा सकता है| हमनें यहाँ कई तरीके बताएं हैं जिससे आप एसिडिटी से बचने का प्रयास कर सकती हैं:

1. आहिस्ते खाएं

जल्दबाज़ी में खाना खाने से भी सीने में जलन और एसिडिटी होती है| कोशिश करें की खाना आहिस्ता-आहिस्ता आराम से खाएं ऐसा करने से आप अधिक से ज़ादा खाना खाने से बचेंगी|

2. तरल चीज़ें पीएं

रात के खाने के बाद एक बड़ा ग्लास दूध पीने से अच्छा है की आप हर खाने के बाद पानी या जूस पीती रहें| हर दिन की पानी की मात्रा को पूरा करने के लिए खाने के बीच पानी पीने से बेहतर है की खाने के बीच कुछ तरल पीती रहें|

3. हर खाने के बाद बैठें या थोड़ा खड़ी रहें

खाना खाने के बाद थोड़ा ठहलें, थोड़ा घर का काम करें, बैठें या किताब पढ़ें बस लेटे ना या ऐसा कोई काम करें जिसमे आपको झुकने की आवश्यकता हो| इन दोनों काम करने से एसिड का एसोफैगस में जाने का खतरा होता है|

4. सोने के फ़ौरन पहले कुछ ना खाएं

सोने के फ़ौरन पहले पेट भर के खाना खाना एसिडिटी को बढ़ावा देता है| गर्भावस्था के समय सोने से 3 घंटा पहले खाना खाने की सलाह दी जाती है ताकि खाना को हज़म होने का समय मिलजाए| यहाँ तक की सोने से कुछ वक़्त पहले कोई तरल चीज़ भी नहीं पीनी चाहिए|

5. ढीले कपडे पहनें

गर्भावस्था के समय टाइट कपडे पहनने से परत पर दबाव पड़ता है जिससे एसिड होने को सम्भावना होती है| ढीले कपडे पहनने की कोशिश करें, ये कपडे आरामदायक होते हैं और साथ ही पेट पर दबाव कम करते हैं|

6. अदरक खाएं

गर्भावस्था के समय अदरक खाने से सीने की जलन और एसिडिटी से राहत मिलता है| ये मसला उलटी और चक्कर से भी आराम देता है जो के अकसर एसिडिटी के कारन होता है|

इन्हे ज़रूर शेयर करें एक और होने वाली माँ के लिए –

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: