-बच्चे-की-गर्भनाल-के-रक्त-की-बैंकिंग-कैसे-करें–xyz

आप अगर गर्भावस्था से गुज़र रहीं है तो आपने गर्भनाल के रक्त को बचाने के बारे में अवश्य सोंचा होगा ,इसके साथ वो सारे तरीके सोंचे होंगे ,जो आपके बच्चे के जीवन को सुरक्षित रख सके |

होने वाले माता-पिता अपने होनेवाले बच्चे को हर तरह की कठिनाइयों से बचाने का प्रयास करतें है | सारे खाली स्विच सॉकेट को बंद करतें है ,कैबिनेट्स को चाइल्डप्रूफ बनाते हैं,कार के सीट्स के बारे में रिसर्च कर डालतें है। यह सब तैयारियां वो बच्चे के जन्म के कुछ महीने पहले ही कर डालतें है |

अब कुछ माता पिता एक ऐसी प्रक्रिया को अपना रहे है जो उनके नन्हें से बच्चे को आने वाले खतरे से बचा कर रखे ,और यह उपाय है गर्भनाल के रक्त की बैंकिंग !

इस प्रकिया में बच्चे के जन्म के समय गर्भनाल से रक्त निकालकर प्राइवेट ब्लड बैंक में जमा कराया जाता है जिसके लिए माता पिता को पैसे देने पड़ते हैं | पब्लिक बैंक भी एक अच्छा विकल्प है | इस रक्त में स्टेम कोशिकायें प्रचुर मात्रा में उपलब्ध रहतीं हैं | इन कोशिकाओं में मानव कोशिकाओं में बदलने की क्षमता होती है इसलिए अगर आपका बच्चा किसी बीमारी से ग्रसित हो जाता है तो इनसे उसका उपचार किया जा सकता है | यह गर्भनाल के रक्त की बैंकिंग बच्चे के भाई -बहन या फिर उसके रिश्तेदार के लिए भी उपयोगी हो सकता है | गर्भनाल के रक्त बैंकिग जीवन रक्षा करनेवाली कोशिकाओं का संरक्षण करने का नायब तरीका है जिसे पहले आमतौर पर फेंक दिया जाता था |

सवाल यह उठता है कि क्या इसतरह की गर्भनाल के रक्त की बैंकिंग सभी के लिए काम आती है ? रक्त बैंकों का तर्क है कि जब आपके बच्चे कभी बीमार हो जाते हैं ,यह एक स्वास्थ्य बीमा की तरह काम करता है |

हालांकि, कई चिकित्सा संगठन – जैसे अमेरिकन बाल विशेषज्ञ चिकित्सा अकादमी और अमेरिकन गर्भ और प्रसूति चिकित्सा अकादमी – इस उपाय को हरेक के लिए होने का समर्थन नहीं करतें | उनका कहना है कि संभावित फायदा इतना कम है कि इससे जुड़े खर्च को सही नहीं ठहराया जा सकता |

स्टीफन फेग, जो UCLA में बाल रोग के विशेषज्ञ है उनका कहना है कि “मैं अपने क्लाइंट्स को यह नहीं कह रही हूं कि वे इस प्रक्रिया का इस्तेमाल न करें , लेकिन मेरा कहना है कि शायद उन्हें कभी भी संग्रहीत गर्भनाल रक्त का उपयोग करने की जरुरत न पड़े । यह एक बहुत ही महँगी बीमा पॉलिसी है।”

इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि आपके पास इसकी जानकारी होनी चाहिए | आपको इससे सम्बंधित किसी निर्णय लेने से पहले कॉर्ड ब्लड बैंकिंग के लाभों और लागतों को जानने की जरूरत है|

आइये जाने कि गर्भनाल रक्त को बचाना क्यों जरुरी है ?

स्टेम कोशिकाएं अपरिपक्व कोशिकाएं होतीं हैं जो न सिर्फ खुद को बना सकतीं है बल्कि ये अन्य प्रकार की कोशिकाओं में बदल भी सकती हैं। इनके कई प्रकार होतें हैं | गर्भनाल के रक्त और अस्थि मज्जा में पाए जाने वाली कोशिकाये हेमेटोपोएटिक प्रजनक कोशिका (HPCs). के नाम से जानी जातीं है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: