normal-delivery-advantages

आज तक हमने नार्मल डिलीवरी का माँ पर फायदा देखा था पर आज हम देखेंगे की किस तरह यह शिशु को प्रभावित करेगा।

 

1. बच्चे तब आते हैं जब कुदरत उन्हें तैयार कर देता है

कुदरती रूप से प्रसव आने पर आप यह समझ जाएँ की शिशु इस दुनिया में आने के लिए पूर्ण रूप से तैयार है। शिशु के फेफड़े और दुसरे शारीरिक अंग परिपक्व हो जाते हैं और आपका शिशु इस दुनिया में आने की क्षमता रखता है।

2. रक्षाकवच

नार्मल डिलीवरी में शिशु को बैक्टीरिया का एक कवच मिल जाता है। यह कवच उन्हें डिलीवरी के वक़्त मिलता है। यह उनकी रक्षाशक्ति काफी हद तक बढ़ा सकता है।

 

3. बच्चों में सांस लेने की तकलीफ को कम करता है

  नार्मल डिलीवरी के दौरान शिशु के गले में दबाव पड़ने से अमिनीओटिक फ्लूइड नाम के रसायन का उत्पादन होता है। यह शिशु के फेफड़ों को सांस लेने के लिए तैयार करता है। साथ ही यह नवजात में सांस लेने की दिक्कत को भी कम करता है।

 4. शिशु सही समय पर स्तनपान कर सकता है

जी हाँ, नार्मल डिलीवरी के बाद माँ जल्द ही अपने शिशु को स्तनपान करना शुरू कर सकती है। और माना जाता है कि जन्म के कुछ घंटों तक शिशु के स्तनपान की शक्ति काफी होती है।

 

हम आपके और आपके शिशु का ख्याल करते हैं। यह आपके जीवन का अहम् फैसला है। इसे दूसरों से शेयर करें और माओं को यह फैसला लेने में उनकी मदद करें।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: