kya-aapka-baccha-right-handed-hai

 दुनिया के 10% लोग लेफ्टी होते हैं जो की जीन्स के कारण होता है, बाकी प्रतिशत लोग या तो राइट हैंडेड होते हैं या वो दोनों हाथों का इस्तेमाल कर पाते हैं| बच्चे अपने माता-पिता के अनुसार लेफ्टी या राइट हैंडेड होते हैं| बच्चा लेफ्ट हैंडेड हो सकता है अगर कोई एक पैरेंट लेफ्ट हैंडेड हो, लेकिन सवाल ये उठता है की क्या बच्चे माँ की कोक से ही लेफ्टी या राइट हैंडेड होते हैं या जन्म लेने के बाद उनमें ये बदलाव आता है?

  ये जानी मानी बात है कि हमारे दिमाग के दाहिना हिस्सा हमारे शरीर के बाएं हिस्से को कंट्रोल करता है और दिमाग का बायां हिस्सा शरीर के दाहिने हिस्से को कंट्रोल करता है| तो ये प्राकृतिक रूप से साबित है की बच्चे का लेफ्टी ये राइट हैंडेड होना उसके दिमाग पर निर्भर करता है| लेकिन ठहरें ये सच नहीं है!

  ये दिमाग की हरकत के वजह से नहीं बल्कि रिड की हड्डी(स्पाइनल कॉर्ड)की हरकत तय करती है की इंसान लेफ्टी होगा या राइट हैंडेड| आपको ये सुनकर हैरानी होगी की बच्चे की रिड की हड्डी उसके गर्भ में 8 हफ्ते-12 हफ्ते में ही तय कर लेती है की वो किस हाथ का अधिक इस्तेमाल करेगा| इसका मतलब ये हुआ की जब आपके गर्भ में फ़ीटस एक नीम्बू के आकर का होता है वो उसी समय तय करलेता है की वो पेंसिल किस हाथ से पकड़ेगा!

हमारे हाथ और बांह की हरकत हमारे दिमाग की वजह से होती है जो बदले में रिड की हड्डी को हरकत करने के लिए सिग्नल भेजता है| लेकिन दिमाग का जो हिस्सा हमारी हरकत के लिए ज़िम्मेदार है वो शुरवात से ही रिड की हड्डी से नहीं जुड़ा होता है| बच्चे का किस हाथ का अधिक इस्तेमाल करना उसी वक़्त समझ आ जाता है जब बच्चा गर्भ में अपने 13 हफ़्तों में अंगूठा चूसना शुरू करता है| 

तो जी हाँ आपका बच्चा पैदाइश ही लेफ्टी या राइट हैंडेड होता है| लेकिन लेफ्टी बच्चों के मामले में, वातावरण और कल्चरल वजह उसे राइट हैंडेड बना सकते हैं- जैसे उनपर दाहिने हाथ से लिखने के लिए ज़ोर डालना|

इसे पढ़कर जानें की आपका बच्चा जन्म से ही लेफ्टी या राइट हैंडेड है और उसे लेफ्टी से राइट हैंडेड बनाने का प्रयास करें, साथ ही इस पोस्ट को शेयर कर के दूसरी माओं की भी इस विषय पर चिंता दूर करें!

Leave a Reply

%d bloggers like this: