आखिर-बहु-का-चाहती-है-अपने-ससुराल-से–xyz

यह तो सभी जानतें है कि बहु के क्या कर्तव्य होतें है और उनसे किन जिम्मेदारियों को निभाने की बात की जाती है ,आईये ज़रा इसे थोड़ा पलट ले और पता करें कि आखिर बहु का चाहती है अपने ससुराल से ? अजीब लगा 

न ? पर अगर आप बहु की बात समझ जाएँ तो क्या बात है! जिंदगी आसान हो जाएगी |

1 उसे अपना समझें :

जब सास खुद बाहर से आकर अपना घर बसाती है तो बहु को बाहरवाली क्यों मानते है ? क्यों उसके सामने बातें फुसफुसा कर की जाती है ?उसे घर में जगह दें| वो आपसे आपकी जगह नहीं छीनना चाहती पर सबके दिलों में अपनी जगह बनाना चाहती है | उसे अपने दिल में एक छोटी सी जगह दे दें फिर देखें ,वो सबके चेहरे पर मुस्कान की वजह बन जाएगी |

2 वो सुपरवूमन नहीं है |

उससे सारी अपेक्षाएं न रखें | वो भी आपकी बेटी की तरह गलतियां कर सकतीं है | उसे प्यार से उसकी गलतियां समझाएं ,सबके सामने उसका या उसके माँ -बाप का मज़ाक न उड़ाएं | अगर वो ठीक खाना पकाये या भली तरह  रीती रिवाज़ का पालन करे तो उसे प्रशंसा से वंचित न करें पर अगर उससे चूक हो जाये तो नज़रअंदाज़ करना भी सीखें | बहु आगे उतनी ही सावधानी बरतेगी |

3. उसे आपके बेटे से आपको अलग करने की चाह नहीं है |

वो कोई वैम्प नहीं है कि शादी का मतलब घर के टुकड़े टुकड़े करना सोंचे | वो आपसे आपके बेटे को अलग करने नहीं आयी | वो सिर्फ अपने पति के साथ कुछ अपना समय चाहती है बस ! उसे अपने पति से एक विश्वास और आदर चाहिए होता है और परिवार में सबके साथ अपनी लिए भी जगह चाहिए होती है | उसे प्यार दें और अपने पति के साथ प्यार भरे पल जीने दें, उसे आपसे प्यार हो जाएगा |

4 उसकी ज़रूरतों को समझे |

बहु भी थक जाती है | उसे भी नींद आती है | उसकी भी कुछ ज़रूरतें है | उसे समझे और उसका मान रखें | वक़्त -वे -वक़्त आये मेहमानों की आव -भगत करते वक़्त ज़रा उसका हाथ बंटा दें ,वो आपकी सेवा में कभी कमी न करेगी |

5 उसके माँ -बाप के साथ सौहार्द्र पूर्ण सम्बन्ध बनाये |

जब एक बहु से उम्मीद की जाती है कि वह पति के माता -पिता को बराबरी का दर्ज़ा दे तो फिर उसके माता पिता के उसके घर आने की खबर क्यों ससुराल वालों को तीर की तरह चुभती है ? दूसरे से तीसरे दिन सवाल कर लिया जाता है कि क्या प्रोग्राम है? और कितने दिन रुकेंगें ? क्यों ? उसके माँ- बाप के साथ सौहार्द्र पूर्ण सम्बन्ध बनाये | उनकी बातों को मान दे | बहु आपकी बेटी बन जाएगी |

आखिर बहु क्या चाहती है ससुराल से ? बस यही न कि वहाँ उसे बिना किसी शर्तों के प्यार मिले | उसकी गलतियों पर उसे प्यार से समझाया जाये | उससे सुपरवूमन बनने की उम्मीद न की जाये और उसे वैसे ही स्वीकारा जाये जैसी वो है | धीरे धीरे ससुराल के प्यार का रंग उसपर ऐसा चढ़ेगा कि वो आपके गुण गाते नहीं थकेगी | 

Leave a Reply

%d bloggers like this: