navjaat-shishu-ko-snan-kaise-karayein

   जैसे ही आप अपने शिशु को गोद में उठाती हैं, वैसे ही आप को प्यार आता है। शिशु का कोमल बदन और हल्का वज़न बड़ा ही अच्छा लगता है। जैसे जैसे शिशु बड़ा होता है, वह पोषण प्राप्त करता है और साथ ही शरीर की गन्दगी बाहर निकालने लगता है। इस गंदगी को साफ़ करने के लिए शिशु को नहलाया जाता है। चलिए इस पोस्ट में छोटे बच्चों को नहलाने के बारे में पढ़ें।

नवजात को कब नहलाना शुरू किया जा सकता है?

 

जब नवजात शिशु की गर्भनाल (umbilical cord ) सूखने के बाद गिर जाती है और वह स्थान ठीक होने लगता है, तब आप शिशु को नहलाना प्रारम्भ कर सकती हैं।

नवजात को कैसे नहलाया जाता है?

 

इसके लिए आप छोटा टब(tub) या बाल्टी ले सकती हैं। इसका साइज़ ज़्यादा बड़ा नहीं होना चाहिए वरना पानी भरने पर बच्चा डूब सकता है। इसके अतिरिक्त आप बच्चे के लिए छोटे बकेट ले सकती हैं। उसमें 3/4 पानी भर लें। कहने का मतलब बाल्टी की लम्बाई से 2 इंच कम पानी भरें।

बच्चे को नहलाने की विधि:

 

1. टब में गुनगुना पानी भरें।

पानी का तापमान मापने के लिए अपनी कोहनी से पानी को छुएं। अगर आप पानी की गर्मी बर्दाश्त कर पा रही हैं, तो शिशु को भी नहलाया जा सकता है।

2. बच्चे के कपड़े धीरे से उतारें।

 

3. शिशु का सर कोमल हाथों से पकड़ें और उसे पानी में डालें। सबसे पहले बच्चे के पैर को पानी में उतारें।

 

4. शिशु पर पानी की बूँदें डालें। इस प्रकार उसके पूरे बदन को भिगो दें।

 

5. अब शिशु को बेबी बाथ/ शिशु साबुन से नहलायें। उसके बदन पर हलके हाथों से झाग पैदा करें।

 

6. शिशु का सर भी बेबी शैम्पू से धुलें। उनके लिए आप अपने साबुन का इस्तेमाल न करें वरना शिशु की त्वचा से नमी उड़ जाएगी और वह रोने लगेगा।

 

7. शिशु को पानी से धोएं।

8. अब उसे पानी से बाहर निकालें।

 

9. उसे साफ़ मुलायम तौलिये से सुखाएं।

 

इसके बाद शिशु को आगे पीछे से पोंछने के बाद उसे सूखे कपड़े पहनाएं।

शिशु को नहलाते वक्त इन बातों को न भूलें:

 

शिशु को एक पल के लिए भी अकेला न छोड़ें। इससे बच्चा डूब सकता है। इसलिए बच्चे को नहलाने से पहले मोबाइल फ़ोन का काम निपटालें।

 

ज़्यादा गर्म और ठंडा पानी शिशु को हानि पहुंचा सकता है इसलिए आप पानी के तापमान का ध्यान रखें।

अगर बच्चे को नहलाते वक्त घर की घंटी बन जाये या महरी/दूधवाला/कामवाली आ जाये तो आप पहले शिशु को पानी से बाहर निकाल, तौलिया में लपेट सुरक्षित स्थान पर रख कर, आप बाद में बाकी काम निपटा सकती हैं।

हेलो मॉम्स,

हम आपके लिए एक अच्छी खबर ले कर आये हैं।

Tinystep आपके और आपके बच्चों क लिए प्राकृतिक तत्वों से बना फ्लोर क्लीनर ले कर आया है! क्या आपको पता है मार्किट में मिलने वाले केमिकल फ्लोर क्लीनर आपके बच्चे के लिए हानिकारक है?

Tinystep का प्राकृतिक फ्लोर क्लीनर आपको और आपके बच्चों को कीटाणुओं और हानिकारक केमिकलों से दूर रखेगा। आज ही आर्डर करें – http://bit.ly/naturalfc

Leave a Reply

%d bloggers like this: