बालों-का-झड़ना-और-गंजेपन-में-क्या-असमानतायें-हैं-xyz

बालों का झड़ना एक सामान्य प्रक्रिया है जहाँ आपके बदन के पुराने बाल अपना जीवन-चक्र पूरा करने के बाद गिर जाते हैं। इससे आपके बालों की मोटाई पर अधिक असर नहीं पड़ता। इनकी जगह नये बाल उग जाते हैं। यह घबराने वाली बात नहीं है।

गंजापन एक रोग के समान है जहाँ धीरे धीरे आपके सर से बाल गिरते गिरते आपको मालूम पड़ता है की सर का प्रभावित स्थान खाली हो जाता है और बालों की परत पतली हो जाती है। यह हॉर्मोन, केमिकल्स, रसायन पद्धति और बालों पर गर्म उपकरणों जैसे की हेयर straightner के प्रयोग से होता है।

आपकी फर्श पर अधिक बाल गिरते हैं और आपका कंघा बालों में उलझा नज़र आता है। क्या यह गंजेपन का लक्षण है?

जी नहीं। एक दिन आपको अधिक बाल गिरे हुए नज़र आयें तो इसका मतलब यह नहीं की आपको गंजापन हो गया है। यह आपके रोज़मर्रा के पुराने बाल हैं जो अपना जीवन काल पूरा करके गिर रहे हैं।

गंजापन समय के साथ अपना असर दिखाता है। ऐसे में इसके नतीजे आपको महीनों बाद दिखते हैं। पहले आपको नज़र नहीं आता पर बाद में अचानक आपको गंजा स्थान दिखता है।

बाल गिरने के बारे में आपको यह बता दें की लगभग 100 बाल प्रतिदिन गिरते हैं। यह सामान्य और अस्थायी है।

अगर आप बहुत ज़्यादा तनाव में हैं तो यह आपके सर से अधिक बाल गिरने का कारण हो सकता है। परन्तु तनाव दूर होने के बाद आपके बाल वापस आ जायेंगे।

गंजापन और बाल झड़ने के मुख्य कारण:

गंजापन तब होता है जब महिलाओं के hair follicle से नया बाल नहीं उगता है। आपके नये बाल को उगने में कोई बाधा आती है तो बाल उगना स्तगित हो जाते हैं और यह बालों के गंजेपन को सामने लाता है।

बदन में हॉर्मोन्स की कमी आपको गंजा बना सकती है। शरीर में हॉर्मोन्स में बदलाव प्रोटीन, अत्यधिक विटामिन A, genetics और गर्भ-निरोधक गोली रोकने के कारण हो सकता है।

उसी जगह सर से थोड़े बालों का रोज़ झड़ना स्कैल्प के स्वस्थ्य होने का संकेत है।

3. बालों से झड़ना और गंजेपन की अवधि

थोड़े बाल तो रोज़ ही गिरते हैं। इसकी cycle 4 महीने की होती है। उसी जगह बालों का झड़ना अगर चार महीनों तक न रुके तो वह गंजेपन को जन्म देता है।

4. बालों की कमी का इलाज कैसे करें?

अगर आप गर्भावस्था में बालों कि कमी से ग्रसित हैं तो इसके लिए अपने डॉक्टर से मिलें। अगर यह हार्मोनल कारणों की वजह से है तो आप को दवा दी जाएगी। साथ ही अगर किसी दवाई के कारण यह हो रहा है तो आप उसे लेना बंद कर सकती हैं।

भोजन में पोषक तत्वों की कमी दूर करने के लिए आप पौष्टिक आहार जैसे गेहूं, sprouts, ताज़े फल, चावल, बटर और हरी सब्ज़ियां लें।

तनाव से दूर रहने के लिए आपको अपने किसी भरोसेमंद इंसान से बात करनी होगी। जितना हो सके दुःख से दूर रहने की कोशिश करें। जिन चीज़ों पर आपका बस नहीं है उनके बारे में सोचना बंद कर दें। उन्हीं उनके हाल पर छोड़ दें। इसके बाद आपके बाल का पुनःनिर्माण शुरू हो जायेगा।

इस ब्लॉग को पढ़ें और अन्य लोगों में शेयर करें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: