आपकी नींद के दुश्मन-खर्राटों से छुटकारा पाएं

खर्राटे क्या होते हैं?

देश की 50% आबादी खर्राटे लेती है, तो ये ज़ाहिर सी बात है की खर्राटों की आवाज़ से आप पहले से परिचित हैं| खर्राटे एक सामन्य आवाज़ है जो आपके फेफड़ों में अशांति के कारण आती है, लोगों का ऐसा सोचना गलत है की खर्राटों की आवाज़ नाक से आती हैं बल्कि सच ये है की उसकी आवाज़ विंडपीईप के पिछले हिस्से से शुरू होती है, आपकी ज़बान के पीछे जो ओरोफैरिंक्स है नींद के समय वो टाइट हो जाता है लेकिन आपने कभी ये सोचा है की खर्राटों के आने की असली वजह क्या है?

 

 

सोते समय आपके फेफड़े पूरी तरह खुले रहते हैं और बाकी मांसपेशियाँ आराम करती हैं, ऐसा अधिकतर उस समय होता है जब आप गहरी नींद में और सपने देखती हैं| सांस लेते समय जब हवा जाने का रास्ता छोटा हो जाता है तो हवा का दबाव बढ़ने लगता है और आपके गले के पिछले हिस्से के मुलायम टिशू वाईब्रेट होने लगते है जिसके कारण आपको खर्राटे आते हैं|

 

किस कारण खर्राटे आते हैं?

उम्र- जैसे-जैसे हमारी उम्र बढ़ती है, हमारे खर्राटे लेने की क्षमता और बढ़ जाती है|

लिंग- महिलाओं से ज़्यादा पुरुष खर्राटे लेते हैं|

 

 

 

वज़न- बढ़ते वज़न के लोगों को खर्राटे ज़्यादा आते हैं|

सोने की पोज़ीशन- खर्राटे अधिकतर चित(पीठ पर) सोने के पोज़िशन में आते हैं और कुछ लोगों को करवट लेकर सोने से खर्राटे आते हैं|

शराब- अधिक मात्रा में शराब पीने से खर्राटा लेने की आशंका बढ़ती है|

स्लीप एपनिया vs खर्राटे

खर्राटे नींद के डिसऑर्डर के कारण आते हैं और स्लीप एपनिया एक गंभीर स्लीप डिसऑर्डर है जब सोते हुए इंसान को सांस लेने में अड़चन आती है, अगर इस बीमारी का वक़्त पर इलाज ना किया जाए तो नींद में अधिक बार आपकी सांसें रुकने का खतरा रहता है और ऐसा होने से आपके दिमाग और शरीर को सही मात्रा में ऑक्सीजन मिलने में अड़चन आ सकती है| अगर आप इन चीज़ों के शिकार हैं- दिन के समय अधिक नींद आना, अचानक सांस लेने में दिक्कत आना या नींद में सांस लेने में अड़चन आना तो फ़ौरन अपने डॉक्टर को दिखाएं|

 

खर्राटों को रोकने के तरीके

– अगर आपका अधिक वज़न है तो उसे कम करें|

– करवट लेकर सोने की कोशिश करें|

– शराब और अन्य चीज़ों से दूर रहें|

– नेज़ल स्ट्रिप- इन स्ट्रिप के इस्तेमाल से आप अपने खर्राटों पर काबू पा सकती हैं, इनकी बिक्री मार्किट में आम है|

– तकिये- ऐसे तकियों का इस्तेमाल करें जिनसे आपके विंडपाइप चौड़े हों और आपके खर्राटों में कमी आये|

देश की आधी आबादी को खर्राटे की बीमारी होने के कारण इस बीमारी को ठीक करने का रास्ता बहुत लोगों को जानना है ताकि इस बीमारी का हल निकल सके| हम आशा करते हैं की जल्द ही आप या आपके पति इस बीमारी से छुटकारा पाएं!

Leave a Reply

%d bloggers like this: