डिलीवरी में दर्द से राहत पाने के लिए सरल अवस्थायें

शिशु को पैदा करना यकीनन मौत को चख्मा देने के समान है। यह एक महिला की ज़िन्दगी का सबसे कठिन दौर होता है। हम आपको कुछ बेहद आसान पोज़िशन बताएँगे जिनसे आपको शिशु को जन्म देने में आराम मिले और कम पीड़ा हो।

1. बैठना

 

लेबर के पहले पढ़ाव में, बैठने से शिशु की डिलीवरी की गति बढ़ने में मदद मिलती है। आपको पीठ के दर्द से भी आराम मिलती है।

2. आधा-बैठना

 

 

कई महिलायें इस अवस्था का फायदा उठाती हैं। महिला को शिशु को जन्म देना होता है तब बीच बीच में वह बैठने और आधा बैठने के बीच संतुलन बना सकती हैं।

3. गेंद का इस्तेमाल करें(बर्थ बॉल)

 

यह एक विशेष प्रकार की गेंद होती है जिसमें हवा भरी जाती है। महिला इसके ऊपर बैठ कर आराम पा सकती है। साथ ही इस गेंद से तनाव में कमी आती है। इस गेंद पर बैठ कर आगे-पीछे हिलने से महिला को बच्चे पैदा करने के संकुचन में जो दर्द होते हैं उनसे राहत मिलती है।

4. खड़े होना

इस अवस्था में महिला धरती की तरफ अपना बल टिकाती है। बच्चे को बाहर आने में आसानी होती है।

5. पीठ के बल लेटना

कभी कभी पीठ के बल लेटने से शरीर अपनी प्राकृतिक अवस्था में होने के कारण शिशु को बाहर आने में मदद करता है। परन्तु इस अवस्था में लेटने से आपके गर्भाशय तक खून का प्रवाह कम या धीमा हो सकता है।

6. घुटने के बल बैठना

इस अवस्था में आप कई और बदलाव भी ला सकती हैं। इससे पीठ का दर्द कम होता है साथ ही अगर शिशु ब्रीच में है तो उसे बाहर आने में मदद मिलेगी।

7. एक ओर होकर लेटना

आप चाहें तो एक तरफ होकर लेट सकती हैं। इससे आपको आराम मिलेगा।

तो इनको इस्तेमाल करें और हमारे इस पोस्ट को शेयर करें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: