वज़न बढ़ाने के लिए सरल व सुरक्षित उपाय

  जिन महिलाओं का वज़न बहुत कम या स्वस्थ्य की श्रेणी में नहीं आता उनके लिए यह पोस्ट में कुछ ऐसे नुस्खे दिए गये हैं जिनसे उन्हें वज़न बढ़ाने में मदद मिलेगी। 

1. पौष्टिक आहार लें

  आपको कई जगहों पर न जाने कितनी बार स्वस्थ्य भोजन का सेवन करने की हिदायत दी गई होगी। इसके हलके में मत लें। आप सेहतमंद खाएंगी तभी तो वज़न बढ़ेगा। बाहर का जंक फ़ूड खाने के बजाय आप घर में मलाई, घी से बनें पदार्थों का सेवन करें। इससे वज़न में बढ़ौतरी मिलेगी।

2. खाना अक्सर खाती रहें

 जिस प्रकार वज़न घटाने के लिए कम और कई देर बाद खाने के लिए कहा जाता है ठीक उसी प्रकार अगर आप छोटे-छोटे मील्स कम समय के अंतराल में लेते रहने से आपके बदन में ऊर्जा और भोजन का निरंतर प्रवाह होता रहता है।

3. ऊर्जा से भरपूर भोजन का सेवन करें

फैट्स, कार्बोहाइड्रेट्स से वज़न बढ़ने में मदद मिलती है। इसलिए आप चावल से बनाई रेसिपीज और अधिक कैलोरीज़ वाला भोजन खा सकती हैं। यह वज़न बढ़ने में मदद करते हैं। बादाम, काजू के सेवन से भी वज़न बढ़ाने में मदद मिलती है।

4. सलाद पहले न खाएं

सलाद में कटे खीरे, टमाटर, प्याज़, चुकंदर, बंद गोभी के पत्त्ते आते हैं। अगर मुख्य भोजन से पहले आप सलाद खा लेती हैं तो इससे उनकी भूख घट जाती है। इसलिए अगर आपको वज़न बढ़ाने की चाहत है तो सलाद खाने के बाद खायें या साथ में खायें।

दरअसल वज़न के बारे में आप को यह जान लेना चाहिए की कुछ लोगों को हटा दें परन्तु ज़्यादातर लोगों का वज़न उम्र भर समान गति से बढ़ता है। वज़न के जींस हमें अनुवांशिक रूप से हमारे माता-पिता से प्राप्त कर लेते हैं।

कोई अपने मोटापे से दुखी है तो किसी को दुबलेपन को लेकर चिंताग्रस्त है। हर इंसान किसी न किसी चीज़ को लेकर दुखी है। किसी को ख़ुशी नहीं। जो उनके पास नहीं होता उसकी चाह में इंसान जो है उसे अनदेखा कर देता है। इसलिए आप प्रकृति के विरूद्ध न जाकर जैसी हैं उसमें खुश रहें।

उम्र में वक्त कब बीत जायेगा इसका पता न जाने आपको कब चले। इसलिए अपने आज को खुल कर एन्जॉय करें। अच्छा खाएं-पियें। किसी चीज़ का संकोच न करें।

परन्तु मैं यह कहना चाहूंगी की भारत में महिलाएं जिम/योग को लेकर ज़्यादा जागरूक नहीं हैं। सबसे अहम बात ये है की अगर आप शारीरिक रूप से सक्रीय हैं तो आपको वज़न बढ़ाने और घटाने में मदद मिलेगी। घर में आप अपने अधिक्तर काम खुद से निपटाने की कोशिश करें। इससे आपका बदन शेप में रहता है।

और खुश रहना न भूलें। कुछ ऐसे कामों में मन लगायें जो आपको उपजाऊ करने के लिए प्रेरित करते हैं। अपना समय नष्ट न करें फ़िज़ूल की पंचायत में। स्वस्थ्य मन में स्वस्थ्य काया का निवास होता है।

तो आप इस पोस्ट को शेयर करें ताकि अन्य महिलायें भी इस बात को समझें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: