किसी चमत्कार से कम नहीं—आखिर कैसे दिया एक मां ने 6 किलो के शिशु को जन्म

ईश्वर की शक्ति, उनके चमत्कार और वरदानों की बात करें तो आप विश्वास नहीं कर पाएंगे। ऑस्ट्रेलिया में एक महिला ने रिकॉर्ड तोड़ देने वाला काम कर दिखलाया। उसने ऐसे शिशु को जन्म दिया जिसका वज़न सामान्य नवजात शिशु से दुगना था।

यह पोस्ट फेसबुक पर वायरल हो गया। नवजात शिशु का नाम है ब्रायन लिड्डल जूनियर। उसकी माँ ने बताया की उसने कभी इतने प्यार की उम्मीद नहीं की थी। उसके बच्चे को लोगों ने बहुत सारा स्नेह दिया है।

 

माँ ने 6 किलो के शिशु को 24 जनवरी को मर्सी हॉस्पिटल हेडलबर्ग में जन्म दिया था। महिला का नाम है नताशा। ब्रायन उनका तीसरा बच्चा है। नताशा ने इससे पहले दो लड़कियों को जन्म दिया है। लड़कियों का वज़न 3.7 किलो और 3.5 किलो था। वे अपने भाई के आधे वज़न की थीं।

 

 

नताशा का कहना है की उनके शिशु का भारी वज़न उनको चौंकाया नहीं। 36 हफ़्तों में ही उसका वज़न 4 किलो था।

यह वज़न उनके होने वाले शिशु के भारी पैदा होने का संकेत था परन्तु जब बच्चा 6 किलो का निकला तो वह थोड़ा चौंकी तो थीं। उन्हें लगा था की शिशु का थोड़ा भारी होना तो निश्चिन्त है परन्तु 2 किलो का अंतर होना वाकई हैरान कर देने वाला था।

नताशा कहती हैं की उनका सपना था की वे एक स्वस्थ्य चब्बी बेबी को जन्म दें और इस शिशु के रूप में उनका यह सपना पूरा हो गया।

ब्रायन लिड्डल जूनियर ऑस्ट्रेलिया के कई रिकार्ड्स तोड़ सकता है। वह विक्टोरिया का सबसे भारी शिशु है और शायद इससे पहले इतना मोटा बच्चा पैदा नहीं हुआ है।

 

नताशा ने बच्चे को योनि मार्ग से बिना एपीड्यूरल के पैदा किये जो काबिल-ऐ-तारीफ बात है। यह उनकी सहनशक्ति और मनोबल को दर्शाता है। उनके पति को उनपर नाज़ है।

यह कहानी हमें यह सन्देश देती है की विश्वास के दम पर दुनिया कायम है। घरवालों के साथ से महिला मुश्किल से मुश्किल घड़ी में भी जीत हासिल कर सकती है।

अगर आप भी अपने बच्चे को कुदरत का करिश्मा मानती हैं तो आप इस पोस्ट को ज़्यादा से ज़्यादा शेयर करें।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: