शिशु के जींदा रहने की उम्मीद कम थी पर मां ने सीने से लगाए रखा और फिर हुआ चमत्कार

 बच्चे को समय से पूर्व जन्म देना किसी भी माँ के लिए आसान नहीं होता, जिस मानसिक और शारीरिक तनाव से उसे गुज़रना पड़ता है उसकी कोई तुलना नहीं की जा सकती| तो जब वालटर जोशुआ फ्रेट्ज़ ने इस दुनिया में अपने आने की तारीख से कुछ हफ्ते पहले क़दम रख दिया तो डॉक्टरों को पता था की वो बच नहीं पाएगा लेकिन उस नन्ही सी जान ने अपने माता-पिता को ऐसा नमूना दिखाया की वो उस पल को कभी भूल नहीं पाएंगे|

एलेक्स फ्रेट्ज़, बच्चे की माँ की नॉर्मल डिलीवरी होने वाली थी और सब कुछ प्लैन के मुताबिक़ जा ही रहा था की उन्हें अचानक पेट में बहुत चुभने वाला दर्द होता है और बुरी तरह से योनि से खून निकलना शुरू हो जाता है| इस हालत में उन्हें फ़ौरन अस्पताल ले जाया जाता है और डॉक्टरों के पास उनकी डिलीवरी करने के इलावा और कोई उपाए नहीं था|

19 हफ़्तों की गर्भावस्था के बाद उनका प्यारा सा बच्चा इस दुनिया में जन्म लेता है, वो बच्चा इतना कमज़ोर था की उसके जीवित रहने की कोई गुंजाइश नहीं बची थी लेकिन तभी एक चमत्कार होता है…

कुछ पल के लिए जोशुआ आहिस्ते-आहिस्ते सांस ले रहा था और जब उसकी माँ ने उसे अपने सीने से लगाया तो उसे अपने बच्चे की धड़कन महसूस हुई| लेकिन वो धड़कन और सांस कुछ पल की मेहमान थी, जोशुआ वापस उसी दुनिया में जा चूका था जहाँ से वो आया था- हमेशा के लिए!

उस बच्चे को भगवन ने इस दुनिया में उसकी माँ के लिए भेजा था जिसे आख़िरी पल में भी उसकी धड़कन महसूस करने का मौका मिलगया| हालांकि वो लम्हा बहुत छोटा था लेकिन ये परिवार उस लम्हे को कभी नहीं भूल पायेगा, इस लम्हे ने उन्हें कुछ देर के लिए ही सही एक बड़ी ख़ुशी दे दी|

इस दिल दहला देने वाली ख़बर को अकेला ना पढ़ें, दूसरी महिलाओं के साथ भी शेयर करें!

Leave a Reply

%d bloggers like this: