सी-सेक्शन के बाद भी संभव है नॉर्मल डिलीवरी- जानिये

सी-सेक्शन के बाद आपकी नार्मल डिलीवरी होने के कितने संयोग हो सकता हैं?

 सी-सेक्शन के बाद जब तक आपकी नार्मल डिलीवरी होने के आसार हैं जिसे VBAC के नाम से भी जाना जाता है, तो आपके ऑपरेशन के सफ़ल होने की अधिक आशंका है| लेकिन ये बात तो तय है की आपकी नार्मल डिलीवरी होने के आसार अधिक बढ़ जाते हैं यदि इस बार डॉक्टरों को ऐसा कोई दिक्कत ना दिखे जिसके कारण पहले आपको सी-सेक्शन से गुज़रना पड़ा था|

 उदाहरण के तौर पर, एक महिला जिसकी नार्मल डिलीवरी बिना किसी दिक्कत के हो चुकी है और फिर दूसरी दफ़ा उसे सी-सेक्शन से गुज़रना पड़े, ऐसी महिला का VBAC सफ़ल होगा नाकि उस महिला का जिसका सी-सेक्शन काफ़ी मुश्किल से हुआ हो और बच्चे को बाहर निकालने में 3 घंटे लगे हों|

 इससे हमारा मतलब है की ये पता करना बेहद मुश्किल है की किस महिला की नॉर्मल डिलीवरी होगी और किसका सी-सेक्शन होगा| सी-सेक्शन के बाद VBAC करने को ‘ट्रायल ऑफ़ लेबर’ कहते हैं| लगभग 60 से 80 परसेंट महिलाएं जो VBAC करवाती हैं उनकी नॉर्मल डिलीवरी होती है|

आप किन वजहों के कारण VBAC के लिए सही उम्मीदवार हैं?

– आपके पहले सी-सेक्शन का कट पेट के एकदम नीचे और आड़े(horizontal) तरीके से हुआ हो|

– आपका पेलविस अब बड़ा दीखता हो ताकि आपका बच्चा आसानी से उससे गुज़र के सुरक्षित तरीके से जन्म ले पाए|

– फाइब्रॉइड्स हटाने के लिए आपका पहले कोई भी यूटेरिन से सम्भंदित सर्जरी नहीं हुई हो, जैसे की मायोमेक्टॉमी|

– आपकी युटरीन कभी भी नहीं टूटी

– आपको कोई बीमारी नहीं है(जैसे की प्लैसेंटा प्रेविआ या फाइब्रॉइड का अधिक बढ़ना) जिसके कारण नॉर्मल डिलीवरी करना एक ख़तरा साबित हो सकता है|

आप किन वजहों के कारण VBAC के लिए सही उम्मीदवार नहीं हैं?

– महिला की उम्र बहुत अधिक होना

– अधिक वज़न होना

– नवजात शिशु का जन्म के समय अधिक वज़न होना

– गर्भावस्था का समय 40 हफ़्तों से अधिक बढ़ना

– दो गर्भावस्था के बीच कम समय का फ़ासला होना

इस पोस्ट को दूसरी महिलाओं के साथ शेयर करें ताकि उनके दिलसे सी-सेक्शन का भय निकल पाए!

Leave a Reply

%d bloggers like this: