गर्भावस्था के दौरान थकान से झुंझना

गर्भावस्था के दौरान आमतौर पर थकान और गर्मी महसूस करना सामान्य बात है। हार्मोनल बदलाव के कारण कई महिलाएं बेहोशी भी महसूस करती है।

बेहोशी

गर्भवती महिलाएं अक्सर बेहोशी का अनुभव करती है,यह गर्भावस्था के दौरान शरीर में होने वाले हार्मोनल बदलाव के कारण होता है। बेहोशी दिमाग को पर्याप्त रक्त ना मिलने और पर्याप्त ऑक्सीजन ना मिलने के कारण होती है। अगर आपके ऑक्सीजन का स्तर बहुत कम होता है,तो इससे बेहोशी हो सकती है। कुर्सी से एकदम उठने, टायलेट जाने या नहाकर आने के दौरान आप चक्कर आने जैसा महसूस कर सकती हैं, लेकिन आप यह तब भी महसूस कर सकती हैं जब आप पीठ के बल लेटी हो।

इसमें यह कुछ उपाय आपकी मदद करेंगे –

-लेटने और बैठने के बाद आराम से उठने की कोशिश करें।

-अगर आप खड़े रहने के दौरान चक्कर आने का अनुभव करें, तो फौरन बैठने के लिए सीट ढूंढ़े और बेहोशी बढ़ सकती हैं लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो अपनी साइड में लेटें।

-अगर मौसम गर्म है,तो पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।

-अगर अपनी पीठ के बल लेटने के दौरान आप बेहोशी महसूस करें तो अपनी साइड में लेट जाएं। ( प्रसव के दौरान या बाद की गर्भावस्था के दौरान अपनी पीठ के बल लेटना आपके लिए ठीक नहीं है।)

गर्मी

गर्भावस्था के दौरान आपको सामान्य से ज्यादा गर्मी महसूस होगी। इसका कारण हार्मोनल बदलाव और त्वचा में बढ़ा हुआ रक्त प्रवाह होता है। आपको अधिक पसीना भी आ सकता है। यह टिप्स आपकी मदद करेंगी।

-ढीले कपड़े पहने जो प्राकृतिक रेशों से बने हो क्योंकि यह अधिक सोखते है और इनमें कृत्रिम तंतु की अपेक्षा ज्यादा हवा आती है।

-अपने कमरे को ठंडा रखें,आप इलेक्ट्रोनिक पंखे का इस्तेमाल कर सकती हैं।

-अंतराल में मुंह धोना, आपको तरोताजा महसूस कराता है।

-पर्याप्त मात्रा में पानी पिएं।

थकान और नींद

गर्भावस्था के दौरान खासतौर पर पहले बारह हफ्तों में थकान महसूस करना सामान्य बात है। आपके शरीर में हो रहे हार्मोनल बदलावों के कारण आप थकान, भावुकता और चिड़चिड़ापन महसूस करती है। इसका एक ही उपाय है जितना हो सके उतना आराम करने का प्रयास करें। अपने तलवों को ऊपर करके बैठने का प्रयास करें और परिवार की और दोस्तों की हर संभव मदद लें। थकान में भागदौड़ करने से आपको दिक्कत हो सकती है। अपनी शारीरिक सेहत का ध्यान रखें स्वस्थ भोजन खाए और पर्याप्त नींद और आराम लें।

गर्भावस्था के अंतिम दिनों में आप अतिरिक्त वजन के कारण थकान महसूस करती है। पर्याप्त नींद लेने का प्रयास करें क्योंकि जब आपका शिशु बढ़ता है तो आपके लिए ठीक से सोना मुश्किल होता हैं। आपको इस तरह लेटने में असहजता होती है, और जैसे ही आप सहज होती है आपको टायलेट जाना पड़ता है।

थकान महसूस करने से आपको और आपके शिशु को कोई नुक़सान नहीं होगा। लेकिन इससे जिंदगी थोड़ी मुश्किल हो जाती है, खासतौर पर गर्भावस्था के शुरुआती दिनों में जब आप लोगों को अपनी गर्भावस्था के बारे में बताते हैं।इस बात का ध्यान रखें की आप जीतना हो सके उतना नींद लेने का प्रयास करें।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: