जानिए दोपहर में सोने से क्या होता है आपके शरीर में

आपकी जीवनशैली और जेनेटिक्स आपके वज़न बढ़ने या घटने की क्षमता तय करते हैं, साथ ही लोअर एनर्जी इन्टेक से एनर्जी एक्सपेंडिचर रेशो भी।

सोने से आप मोटे नहीं होते हैं

 

 

  कई अध्ययनों के निष्कर्ष में पाया गया है की सोने से वज़न नही बढ़ता है हमारा शरीर सोने के दौरान भी शरीर के विकास, रखरखाव, मरम्मत और जीवित रहने की प्रक्रिया में ऊर्जा ख़र्च करता है। बल्कि देर से सोना या नींद की कमी वजन बढ़ने का प्रमुख कारण है। नींद की कमी से हार्मोन का उत्पादन धीमा हो जाता है, लेप्टिन और घ्रिलीन से आपको ज्यादा भूख लगती है, यहां तक पेट भर खाना खाने के बाद भी।

दोपहर में 30-45 मिनट की झपकी फायदेमंद है

 

  बहुत से विशेषज्ञ सुझाते हैं की दिन में 30-45 मिनट की नींद लेना फायदेमंद है, इससे तनाव के हार्मोन कम होते है और साथ ही इससे उत्पादकता बढ़ती है। अधिकतर लोगों को जो देर तक काम करते हैं उन्हें दिन में एक झपकी लेने की जरूरत होती है ताकि वह दुर्घटना या काम पर किसी समस्या से बच सकें।

दोपहर का भोजन करने के 1-2 घंटे के भीतर ना सोएं

 इससे पाचन-क्रिया धीमी पड़ जाती है और सीधा लेटने के कारण एसिड रिफ्लूक्स की संभावना बढ़ती है। इसलिए खाने और सोने के बीच के अन्तराल को कम रखें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: