(हास्य कविता)चाहे पति हो या नेता…दोनो कहाँ सुनते हैं..

लडकियां भाव खा रही हैं.

लडके धोखा खा रहे हैं…

पुलिस रिश्वत खा रही हैं…

नेता माल खा रहे हैं….


किसान जहर खा रहा है…

जवान गोली खा रहा है…

कौन कहता है कि भारत भूखा मर रहा है ???

झाडू वाला मुख्यमंत्री है

चाय वाला प्रधानमंत्री हैं

12वी पास देश की शिक्षा मंत्री हैं

अंगूठा टेक सरपंच

और

हम ग्रेजुएट डिप्लोमा वाले FACEBOOK WHATSAPP पर

ग्रुप-ग्रुप खेल रहे हैं

अकेला आदमी परिवर्तन लाता है

और

शादीशुदा सब्जी लाता है


जिनको हम चुनते हैं…वो ही हमें धुनते हैं..

चाहे पति हो या नेता…दोनो कहाँ सुनते हैं..😳😳😳😳😳


“बुद्धी” का उपयोग करनेवाले जापान में…

603 किमी./घंटा रफ्तार वाली ट्रैन के बाद,

7G की टेस्टिंग शुरू हो चुकी है…

और इंडिया में “पढ़े-लिखे” लोग

Whatsapp पर 11 लोगों को

”ॐ नम: शिवाय:” भेजकर

फ्री बैलेंस और चमत्कार की उम्मीद कर रहे हैं।।

और तो और नही भेजा तो

अप्रिय घटना की चेतावनी ओर दे देते है .


अगरबत्ती दो प्रकार की होती है…

एक भगवान के लिए , एक मच्छरों के लिए…

तकलीफ ये है कि…

-भगवान आते नहीं , मच्छर जाते नहीं…

*पेट खाली* है

और

…….. *योग* करवाया जा रहा है,

*जेब खाली* 


और

……. *खाता* खुलवाया जा रहा है,

रहने का *घर नहीं*

और

……. *शौचालय* बनवाया जा रहा है.

गाँव मे *बिजली नही*

और

… *डिजिटल India* बन रहा है.

कंपनीया सारी *विदेशी*

मेक इन *India* कर रहा है.

जाति कि *गंदगी दिमाग मे* है

और

….. *स्वच्छ भारत* अभियान चल रहा है.

*आटा* दिनो दिन महंगा हो रहा है,

और

……. *डाटा* सस्ता कर रहे है.

*सचमुच देश बदल रहा है…..!!!

Leave a Reply

%d bloggers like this: