पहली बार शिशु के बाल कटवाने के लिए पांच टिप्स

एक मां के जीवन में कुछ निश्चित मील के पत्थर होते हैं जो शारीरिक और मानसिक रूप से बहुत कुछ लेते हैं। लेकिन इसके बाद इन मील के पत्थरों से सामना करना ही होता है और शिशु से ज्यादा एक मां को इसके लिए तैयार होना पड़ता है। शिशु के पहली बार बाल कटवाना उन्हीं मिल के पत्थरों में से एक है जिसे भारत में धूम धाम से मनाया जाता है। लेकिन जहां पूरा परिवार इस उत्सव का आनंद ले रहा होता है दूसरी ओर मां घबराती है और प्रार्थना करती है की सब ठीक से हो जाए और उनके बच्चे को परेशानी ना हो। लेकिन ज्यादा परेशान ना हों क्योंकि हम आपकी घबराहट को थोड़ा कम कर सकते हैं और हम आपको सब सही से जांचने और देखने में मदद कर सकते हैं। यह है अपने शिशु के बाल पहली बार कटवाने के दौरान काम आने वाले कुछ टिप्स।

 

स्नैक्स ले जाएं – आपका नन्हा मुन्ना हमेशा भूखा महसूस करेगा और साथ ही अगर आप बाहर जा रही है तो उनके लिए हर जगह स्वस्थ भोजन मिलना मुश्किल है। इसलिए कुछ हल्के स्नैक्स पैक करें जिनका वह आनंद ले सकें। इन स्नैक्स से उनका ध्यान कटते हुए बालों पर कम जाएगा और वह बिना किसी समस्या के उससे बाहर निकलने में समर्थ होंगे।

अपने बच्चे का पसंदीदा खिलौना ले जाएं – बच्चों को बिना हिले डुले एक ही स्थिति में रखना वह भी लम्बे समय के लिए बहुत मुश्किल होता है। बच्चे अक्सर आसानी से ऊब जाते हैं। इसलिए जरूरी है की जब उनके बाल कट रहे हो तो वह किसी चीज़ में व्यस्त हों। इसलिए साथ में उनका पसंदीदा खिलौना ले जाएं ताकि उनका ध्यान बंटे।

 

साफ कपड़े ले जाएं – आप वास्तव में नहीं जानते हैं की आपको वापस घर जाने में कितना समय लगेगा और एक बार जब आपके बच्चे के बाल कट जाते हैं तो कुछ बाल उनके कपड़े में घुस सकते हैं। इससे निश्चित रूप से उन्हें परेशानी होती है और वह खुजली की वजह से रो भी सकते है। इसलिए यह हमेशा बेहतर होता है की आप कुछ कपड़े ले जाएं बाल कटाने के बाद बदलने के लिए।

दबाव ना डालें – एक सबसे आम गलती जो ज्यादातर मां करती है वह है शिशु के हिलने डुलने पर पाबंदी लगा देना। इससे उन्हें और दिक्कत होती है और परिणामस्वरूप यह समय और अनुभव आप दोनों के लिए मुश्किल हो जाता है।

अपने साथ किसी और को भी ले जाएं – अपने शिशु को संभालना और व्यस्त रखना अकेले आपके लिए संभव नहीं है। और यह कोई रहस्य नहीं है की वह आपको सबसे ज्यादा प्यार करते हैं लेकिन फिर भी उन्हें किसी अन्य का साथ पसंद होता है। तो क्यों ना आप अपने पति, बड़े बच्चे या किसी अन्य को भी साथ ले जाएं,जो बाल कटा सके ताकि आपके बच्चे को भी सामान्य महसूस हो। अगर ऐसा ना भी हो तो वह शिशु के साथ रहकर उनका मनोरंजन कर सकते हैं और उन्हें संभाल सकते हैं।

Leave a Reply

%d bloggers like this: