अपने नवजात शिशु को हर तरह के मौसम के अनुसार कपड़े पहनाएं

आपके शिशु के जन्मदिन के सूट से ज्यादा प्यार और कुछ नहीं होता है। लेकिन इस बात को समझें की उन्हें कभी-कभार ड्रेस होना पड़ता है। शिशु के कपड़े लेते समय उसकी सुंदरता के साथ ही आराम और सुरक्षा का भी ध्यान रखें। नवजात शिशु कई सारी खूबियों के साथ आते हैं लेकिन एक चीज़ जिसमें उन्हें अभी महारत हासिल नहीं होती है वह है अपने शरीर के तापमान को नियंत्रित रखना,जो लगभग छह महीने में होता है। इस बीच यह आप पर होता है की अपने नन्हे मुन्ने को घर से बाहर जाने से पहले सही से तैयार कर के ले जाएं, ना ज्यादा गर्म और ना ज्यादा ठंडा। जानिए कैसे :

 

लेयर लूक – लेयर लूक आपके नवजात शिशु पर बहुत ही अच्छा लगेगा और साथ ही यह बहुत सामान्य है। शिशु को एक लेयर हल्का कपड़ा पहनाना या उतारना सबसे बेहतर होता हैं,जब तापमान ठंडा हो तो उन्हें पहना दें और जब गर्म हो तो उतार दें।

बच्चों को बाहर टोपी की जरूरत होती है – एक हल्की टोपी आपके शिशु को गर्मियों में धूप से बचाती है और सर्दियों में गर्मी को अपने अंदर समेट लेती है। इसे कहीं भी बाहर जाने से पहले सबसे महत्वपूर्ण चीजों में शामिल करें।

शिशुओं को अतिरिक्त लेयर की जरूरत होती है – आपके नवजात शिशु को आपसे एक लेयर ज्यादा कपड़ों की जरूरत होती है। यानी जब आप टी-शर्ट पहने तो शिशु को हल्की स्वेटर पहनाएं। आप एक चादर या उनका शौल भी इसमें शामिल कर सकती हैं जिससे वह गर्म रहें| 

बहुत ज्यादा कपड़े ना पहनाएं – शिशुओं को बहुत सारी लेयर में कपड़े पहनाएं जाते हैं जिससे उन्हें आसानी से गर्मी लग सकती है। तो जैसे ही आप घर आएं उन अतिरिक्त कपड़ों को उतार दें। अगर गर्मी ज्यादा हो तो शिशु को ज्यादा कपड़े ना पहनाएं। सोने के दौरान ज्यादा गर्मी लगना एस.आइ.डी.एस से भी जुड़ा है।

उनकी गर्दन को जांचें – यह सबसे आसान तरीका है जाँचने का की शिशु को ज्यादा गर्मी या सर्दी लग रही है या नहीं, उनकी बाहें, आंखें और गर्दन को जांचें। शिशु के हाथ और पांव छूने में मुलायम होते हैं लेकिन नवजात शिशुओं में अधिकतर यह ठंडे सोते हैं इसलिए इन्हें छूने से तापमान नियंत्रित रहता है।

Leave a Reply

%d bloggers like this: