अपने शिशु के सबसे नाज़ुक हिस्सों को साफ़ करना

माँ बनने के साथ कई बातें जुड़ी है। एक नवजात शिशु की माँ होना कोई आसान बात नहीं है। आपको अपने शिशु के लिए हर समय उपलब्ध रहना पड़ता है। बच्चे बहुत ही प्यारे होते हैं और उनका बहुत ध्यान रखने की जरूरत होती है व उन्हें कभी अकेले नहीं छोड़ा जाना चाहिए। वह चिड़चिड़े हो सकते हैं जब उन्हें भूख लगी होती है और बहुत परेशान करते हैं जब आप उन्हें खाना खिलाते हैं। हालांकि इतने सारे कामों के बाद यह कैसे सुनिश्चित करें की आपका शिशु हमेशा साफ-सुथरा रहे और जब बात शिशु की स्वच्छता की आती है तो बेबी वाइप्स हर मां की पहली पसंद होता है। यह वाइप्स शिशु की उल्टी को साफ करने के लिए इस्तेमाल किए जा सकते हैं। बेबी वाइप्स में किसी भी तरल को सोखने की अद्भुत क्षमता होती है। तो शिशु की स्वच्छता के लिए इसे इस्तेमाल करना एक अच्छा विचार है।

यह बहुत ही असरदार होता है जब बात शिशु की स्वच्छता की आती है। साथ ही आपके शिशु की त्वचा आपकी त्वचा से अधिक संवेदनशील होती है इसलिए यह आवश्यक है की आप ऐसे उत्पादों का प्रयोग करें जो रसायन, अल्कोहल और पाराबीन से मुक्त हो। इसलिए आपको पानी से बनी वाइप्स को इस्तेमाल करने की जरूरत है।

पानी से बनी वाइप्स क्या है?

पानी से बने नए वाइप्स का आविष्कार सभी माताओं के लिए बहुत फायदेमंद है। यह वाइप्स सबसे बेहतर गुणवत्ता वाले जैविक और प्राकृतिक तत्वों से बने होते हैं। यह प्रमाणित तथ्य है की पानी इस ग्रह का सबसे सौम्य तत्व है। पानी का यह गुण इसे वाइप्स के लिए सुरक्षित बनाता है।

शुद्ध पानी की अधिकता और इसी के साथ प्राकृतिक इंग्रीडिएंट् जैसे जोजोबा ऑयल और एलोवेरा। यह त्वचा को माइश्चुराइचर और मुलायम बनाए रखने में मदद करता है। मदर स्पर्श वाटर वाइप्स विशेषकर बेबी वाटर वाइप्स है,जो 98% शुद्ध पानी से बना है। यह आपके शिशु की नाज़ुक त्वचा को रैशेस और रुखेपन से दूर रखने में मदद करता है।

यह है कुछ आसान तरीके अपने शिशु की नाज़ुक त्वचा को वाटर वाइप्स से साफ़ करने के:

 

नाभि की सफ़ाई

 

शिशु की सफाई करने के दौरान नाभि के हिस्से को तबतक ना छुएं, जबतक की नाल (स्टम) सुखकर स्वयं ना झड़ जाए। संक्रमण से बचने के लिए गर्भनाल को नमी से दूर रखें। वाटर वाइप्स शिशु की त्वचा के लिए अच्छा होता कि यह कम गुणवत्ता वाले या ज्यादा गुणवत्ता वाले वाइप्स को खरीदने के बारे में नहीं है एक मां को यह पता होता है की उनके शिशु के बेहतर स्वास्थ्य के लिए क्या जरूरी है।

चेहरे की सफ़ाई

 

चेहरा हाइड्रेटेड और माइशचुराइज होना चाहिए ताकि वह रुखा- सूखा ना रहे। वाटर वाइप्स के साथ सौम्यता से आप अपने शिशु के चेहरे को साफ़ कर सकती हैं। आंखों के कोनों में जमा गंदगी और म्यूकस को ध्यान से देखें और उसे उंगली से निकालने के बजाए,वाटर वाइप्स का इस्तेमाल करें क्योंकि यह ज्यादा सुरक्षित और असरदार है। शिशु के कानों को भी साफ किया जाना चाहिए। आमतौर पर सफाई करने के दौरान शिशु के कान का पिछला हिस्सा नज़रअदांज कर दिया जाता है। धूल और गंदगी को साफ़ करने के लिए उस हिस्से में आराम से वाटर वाइप्स का इस्तेमाल करें।

हाथ और पांव

आपके शिशु के हाथ और पांव आमतौर पर बाहरी वातावरण के संपर्क में आते हैं जो धूल, मिट्टी और अशुध्दियों से भरा होता है। सख्त कण त्वचा को रुखा बनाते हैं और उसे नुकसान पहुंचाते हैं। माँ को इस बात का ध्यान रखना चाहिए की उनके शिशु के हाथ पांव हमेशा माइशचुराइज रहें। वाइप्स के इस्तेमाल से शिशु की मालिश करना उन्हें आराम पहुंचाने में मदद करता है। हाथों की त्वचा रुखी होती है जो शिशुओं के लिए तकलीफदेह हो सकता है। वाटर वाइप्स आपके शिशु की त्वचा को साफ़ और माइश्चुराइज रखते हैं।

जननांगों की सफ़ाई

शिशु के जननांगों की सफ़ाई बहुत आवश्यक है क्योंकि यह हिस्से आसानी से संक्रमण की चपेट में आ सकते हैं। जब भी शिशु मल या मूत्र का त्याग करें उनके शरीर को वाटर वाइप्स से साफ़ करें।

अगर आपका बेबी बाय है तो सौम्यता से उसके लिंग और उसके आसपास के हिस्से को साफ़ करें। लेकिन कोई जबरदस्ती ना करें क्योंकि इससे गंभीर चोट लग सकती है। अगर आपकी बेबी गर्ल है, तो आपको और अधिक देखरेख की जरूरत है। अपने हाथ को साफ़ करें और उनके योनि के हिस्से को साफ़ करें। पूरे हिस्से को सही प्रकार से साफ़ करें।

Leave a Reply

%d bloggers like this: