प्रेगनेंसी के दौरान न करे हील्स का उपयोग

किसी भी महिला के लिए माँ बनना एक अलग ही ख़ुशी लेकर आता है। पर उसके साथ साथ होने वाली माँ को कई बदलावों का भी सामना करना पड़ता है, और इतना ही नहीं उन्हें अपने होने वाले बच्चे के सेहत के हर रोज़ की बहुत सी चीज़ों का त्याग भी करना पड़ता है। ज़्यादा मेकअप, हेयर कलर्स, कपड़े पहनने के ढंग आदि जैसी चीज़ों का भी त्याग देना पड़ता है और इन्ही में से एक है ‘हाई हिल्स’। बदलते वक़्त के साथ साथ हाई हिल्स भी महिलाओं के फैशन का एक अटूट हिस्सा है। किसी भी ड्रेस के साथ हाई हिल्स पहनने से महिला की पर्सनालिटी और ख़ूबसूरती में चार चाँद लग जाते हैं। और कई महिलाएं प्रेगनेंसी के वक़्त भी बड़े आराम से हाई हिल्स पेहेन लेती है, पर अच्छे दिखने के दौड़ में महिला भूल जाती है की हाई हिल्स से माँ और बच्चे दोनों के लिए खतरा हो सकता है और दे सकती है आपको कई परेशानियां।

१. पैरों व घुटनो में दर्द- हाई हिल्स पहनने से आपके चलने, उठने-बैठने का तरीका बदल जाता है, इससे आपको चलने-फिरने में तकलीफ भी होती है क्यूंकि इससे आपके पैरों पर प्रेशर रहता है जिस कारण आपको घुटनो और पैरों की दर्द की शिकायत हो सकती है।

२. पैरों में सूजन की समस्या – गर्भावस्था के दौरान, ऐसे ही होने वाली माँ के पैरों में काफी सूजन हो जाती है और ये सूजन हील्स पहनने से और ज़्यादा बढ़ जाती है। आपका सारा भार आपके पैरों पर होता है जिससे आपके पैरों क्रैम्प्स या में एंकल में मोच भी आ सकती है जो की और भी दर्दनाक और ज़्यादा दिनों तक आपको परेशान कर सकता है।

३. फिसलने का खतरा – प्रेगनेंसी के दौरान महिला का शरीर भारी हो जाता है, और हिल्स पर बैलेंस बनाना मुश्किल हो सकता है जिससे महिला फिसल भी सकती है जिससे उन्हें और उनके होने वाले बच्चे को नुक्सान हो सकता है यहाँ तक की गर्भपात होने का भी खतरा बढ़ जाता है।

४. पीठ में दर्द – प्रेगनेंसी के दौरान ऐसे ही महिला को बहुत सी परेशानियां होती रहती है और सबसे आम परेशानी है शरीर में दर्द की शिकायत, क्यूंकि जितनी-जितनी प्रेगनेंसी बढ़ती है महिला का वज़न भी बढ़ता है। महिला का गर्भाशय बढ़ने के कारण महिला का शरीर भारी हो जाता है। और हील पहनने से सारा वज़न आगे की ओर आ जाता है और रीढ़ की हड्डी निकल जाती है जिससे न सिर्फ आपका पोस्चर खराब होता है बल्कि पीठ में दर्द की शिकायत भी बढ़ जाती है।

५. असुविधा महसूस करना- फैशन वो ही सही जिसमें आप कम्फर्टेबल महसूस करें। भले ही आप अच्छा दिखने के लिए हिल्स पहन लें पर अगर आप कम्फर्टेबल नहीं होंगे तो आप पर स्ट्रेस पड़ेगा और आप और का होने वाला बच्चा दोनों ही पर इसका बुरा प्रभाव पड़ेगा इसलिए प्रेगनेंसी के दौरान जितना हो सके कम्फर्टेबल चीज़ों का चुनाव करें।

अगर आपको हिल पहनने की बहुत इच्छा है तो काम हिल्स की या प्लेटफार्म हिल्स की कम्फर्टेबल सैंडल्स ही पहने। और स्ट्रीट शॉपिंग के बजाय ब्रांडेड फुटवेयर्स का ही इस्तेमाल करें। कोशिश करें काम हिल और काम वक़्त के लिए हिल्स पहनने का और कोशिश करें हिल्स पहनकर ज़्यादा देर तक खड़ी न रहें। और इन सबके अलावा कोशिश करें गर्भवस्था के दौरान हिल्स से दूर रहे क्यूंकि आपकी और आपकी बच्चे की सुरक्षा आपके अपने हाथो में है इसलिए ध्यान रखें।

हैप्पी प्रेगनेंसी 

Leave a Reply

%d bloggers like this: