क्या आपको वास्तव में सी-सेक्शन की जरूरत है- जानिये

  भारत में सी-सेक्शन या सिजेरियन डिलिवरी की दर पूरे विश्व में सबसे ज्यादा है। लेकिन क्या यह दर वास्तव में उचित है? क्या आपने कभी महसूस किया है की आपके शिशु की सेहत अच्छी है,आपकी सेहत अच्छी है लेकिन फिर भी डॉक्टर आपको सी-सेक्शन करवाने पर जोर देते है? इसके पीछे क्या कारण है?

जब बात सेहत की आती है तो निश्चित रूप से हमें डॉक्टर की बात सुननी चाहिए और उनकी सलाह माननी चाहिए व कुछ सी-सेक्शन वास्तव में आवश्यक होते हैं। हो सकता है हमें सब सही लगे, लेकिन डॉक्टर के पास अपने अनुभव होते हैं और वह देख सकते हैं की हम क्या करने में असमर्थ हैं। लेकिन कई बार खासतौर पर भारत में डाक्टर सी-सेक्शन का सुझाव देते हैं,भले ही नार्मल डिलीवरी सही हो। इसके पीछे का कारण यह है की नार्मल डिलीवरी एक सामान्य सी प्रक्रिया है, जिसमें अधिक उपकरण और मनुष्यों की जरूरत नहीं होती है। इसलिए इसमें मरीज़ का कम ख़र्चा आता है। दूसरी तरफ, सी-सेक्शन एक बड़ी सर्जरी है। इसमें ज्यादा उपकरण और लोगों की जरूरत होती है जिस कारण ख़र्चा ज्यादा आता है।

कई बार डॉक्टर खुद मां से पूछते हैं की क्या वह सी-सेक्शन करवाना चाहती है। इसके पीछे का कारण यह है की मां दर्द से डर जाती है और इससे गुजरना नहीं चाहती हैं। इसलिए वह सी-सेक्शन चुनती है, जिसमें वह एनिस्थिसया के प्रभाव में होती है और उन्हें कुछ भी महसूस नहीं होता है। लेकिन उन्हें यह समझ नहीं आता है की एक बड़ी सर्जरी होने के नाते इसके कई जोखिम होते हैं, जिसमें लकवा के जोख़िम के साथ मां और शिशु दोनों की मृत्यु का खतरा है।

जी हां, दर्द होता है और हम समझते हैं की आप डरी हुई है। लेकिन सिजेरियन डिलीवरी को चुनकर आप अपने शिशु और खुद को ख़तरे में डाल रही है और यह ऐसी बात है जो आपको हल्के में नहीं लेनी चाहिए। इसलिए जब बात डिलीवरी की आती है तो सिजेरियन की अपेक्षा नार्मल डिलीवरी को चुनें। अगर आप इससे सहमत नहीं हैं तो हमारे पास आपके लिए एक और तर्क है। जब आपको एनस्थीसिया दिया जाएगा तो आपको उठने में थोड़ा समय लगेगा,तबतक आपके अलावा आपके पूरे परिवार ने शिशु को देख लिया होगा। दूसरी तरफ अगर यह नार्मल डिलीवरी होगी,तो आप पहली होंगी जिसने शिशु को देखा होगा।

हम सिर्फ आपको विकल्प दे सकते हैं। अंत में फैसला आपका ही होगा। लेकिन अगर डॉक्टर वास्तव में सी-सेक्शन का सुझाव दे रहे हैं और इसके पीछे उचित कारण है तो यही करें। आप और आपके शिशु की सेहत अच्छी होनी चाहिए।

 

Leave a Reply

%d bloggers like this: